स्कारलेट हत्याकांड: गोवा के सीएम ने भी फैसले को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

गोवा (23 सितंबर): 8 साल बाद ब्रिटिश किशोरी स्कारलेट कीलींग का गोवा में हुआ मर्डर मामले में कोर्ट ने दोनों आरोपियों को बरी कर दिया। इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए गोवा के मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने कहा कि मुझे निजी तौर पर लगता है फैसला दुर्भाग्यपूर्ण है।

दरअसल, फरवरी 2008 में गोवा के बीच पर ब्रिटिश मूल की 15 साल की एक लड़की स्कारलेट कीलींग का शव मिला था। इस मामले में दो लोगों पर स्कारलेट का रेप कर उसकी हत्या करने का आरोप था। लेकिन आज इस मामले में फैसला सुनाते हुए गोवा कोर्ट ने दोनों आरोपियों को बरी कर दिया।

गोवा में बीच किनारे काम करने वाले दो लोग- सैमसन डिसूजा और प्लैसिडो कार्वल्हो पर आरोप था कि उन्होंने स्कारलेट की ड्रिंक में ड्रग्स मिलाया और उसके बाद उसका शारीरिक शोषण कर बेहोशी की हालत में उसे पानी के किनारे छोड़ दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

इस केस की जांच पहले गोवा पुलिस कर रही थी लेकिन बाद में इस मामले को सीबीआई को सौंप दिया गया था।