भारत के खिलाफ इस आतंकी संगठन ने फिर उगला जहर

लाहौर (2 सितंबर): दुनियाभर में लगातार हो रही आलोचना और शर्मिंदगी के बावजूद पाकिस्तान दुनियाभर में आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगार बना हुआ है। पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसी ISI का यहां दुनियाभर के आतंकियों का संरक्षण हांसिल है। पूरी दुनिया में साफ हो चुका है कि आंतकवाद पाकिस्तान की विदेश नीति का एक अहम हिस्सा है और पाकिस्तानी सरकार के इशारे पर पाक सेना और आईएसआई की मदद से वो भारत समेत दुनियाभर में आतंकी वारदातों को अंजाम दे रहा है।

लंबे अरसे से पाकिस्तान भारत के खिलाफ आतंकवाद फैला रहा है और अपने यहां भारत में आतंकी वारदात करने वाले आंतकी संगठन और उनके मुखिया को संरक्षण दे रहा है। इसी कड़ी में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी हाफिज सईद का साला और जमात-उद-दावा के मुखिया अब्दुल रहमान मक्की ने अपने आतंकियों से भारत के खिलाफ जेहाद को और तेज करने के लिए कहा है। अब्दुल रहमान मक्की के ताजा ऐलान के बाद खुफिया एजेंसिया और सर्तक हो गई है। साथ ही सरकार घाटी में आतंकवादियों को खत्म करने के लिए सघन अभियान चला रही है।

आतंक की फैक्ट्री पाकिस्तान पर डोनाल्ड ट्रम्प की एक्शन लेने वाली धमकियों के बावजूद वह बेशर्म बना हुआ है। ऐसे में मोटी चमड़ी वाले पाकिस्तान के खिलाफ जब तक आतंकवाद को लेकर कड़ी कार्रवाई नहीं की जाएगी तबतक उसपर जुबानी बातों से कोई असर नहीं पड़ेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकियों के के बावाजूद लाहौर, इस्लामाबाद समेत तमाम जगहों पर आतंकी संगठनों के आका खुलेआम घूम रहे हैं, प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं जिन आतंकवादी संगठनों पर अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंध लगे हैं। इनमें अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी हाफिज सईद का साला अब्दुल रहमान मक्की और दूसरे आतंकवादी शामिल हैं। जो नए सिरे से जेहादी आतंक की धमकियां पाकिस्तान की राजधानी में बैठकर दे रहे थे।