सुप्रीम कोर्ट के नए चीफ जस्टिस बने खेहर, राष्ट्रपति ने दिलाई शपथ

नई दिल्ली (4 जनवरी): जस्टिस जेएस खेहर ने सुप्रीम कोर्ट के नए मुख्य न्यायाधीश बन गए हैं। राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक समारोह में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जस्टिस जेएस खेहर को सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ दिलाई गई। इस तरह जस्टिस जेएस खेहर देश के 44 वें मुख्य न्यायाधीश बन गए हैं।

आपको बता दें कि मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टीएस ठाकुर मंगलवार को रिटायर हो गए। जस्टिस जेएस खेहर देश के पहले सिख मुख्य न्यायाधीश बने हैं।

जस्टिस खेहर उस वक्त सुर्खियों में आए थे जब उन्होंने दिसंबर 2015 उच्च न्याय पालिका में जजों की नियुक्ति के लिए लाए कानून एनजेएसी को निरस्त कर दिया था। वह पांच सदस्यीय संविधान पीठ की अध्यक्षता कर रहे थे। इसके बाद इस वर्ष उन्होंने एक बड़े फैसले में अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को पुनर्जीवित कर दिया था।

पंजाब में 28 अगस्त 1952 में जन्में जस्टिस जगदीश सिंह खेहर (64) का कार्यकाल काफी कम होगा, वह लगभग आठ माह के कार्यकाल के बाद 27 अगस्त 2017 को सेवानिवृत्त हो जाएंगे।

वह नवंबर 2009 में नैनीताल हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने, उसके बाद उन्हें कर्नाटक हाईकोर्ट को मुख्य न्यायाधीश बनाया गया। 13 सितंबर 2011 को वह सुप्रीम कोर्ट में जज के रूप में प्रोन्नत हुए।

जेएस खेहर ने राजकीय कालेज चंडीगढ़ से बीएससी करने के बाद पंजाब विवि से एलएलबी की डिग्री हासिल की और उसके बाद एलएलएम की डिग्री गोल्ड मेडल के साथ पास की। 1979 में उनहोंने पंजाब एंव हरियाणा हाईकोर्ट में प्रेक्टिस शुरू की और केसों में सुप्रीम कोर्ट भी आते रहे। 8 फरवरी 1999 को उन्हें पंचाब और हरियाणा हाईकोर्ट में जज नियुक्त किया गया।