IS के कब्ज़े वाले रक्का शहर के हालात पर लिखने वाली महिला पत्रकार की हत्या

  नई दिल्ली (6 जनवरी): आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकियों ने एक महिला पत्रकार की हत्या कर दी है। इस पत्रकार ने आईएस के कब्जे वाले शहर रक्का के दैनिक जीवन के बारे में लिखा था।

'द गार्डियन' की रिपोर्ट की मुताबिक, 30 वर्षीय पत्रकार रुकिया हसन को सितंबर में ही मार दिया गया था, लेकिन उनकी मौत की खबर खुले तौर पर इस हफ्ते सबके सामने आई है। यह खबर तब आई जब आईएस ने सोशल मीडिया पर दावा किया कि वह अभी भी जिंदा है। 

निसान इब्राहिम नाम से लिखने वाली हसन के पोस्ट्स ने रक्का में रहने वाले लोगों की जिंदगी के बारे में जानकारी दी थी। सीरियाई रक्का मे आईएस का कब्जा है। रुकिया हसन ने अलप्पो यूनिवर्सिटी से फिलॉसॉफी की पढ़ाई की थी। इसके बाद बसर अल असद के शासन के खिलाफ तब विरोध में शामिल हो गई, जब रक्का में क्रांति शुरू हुई। रुकिया ने शहर में आईएस के प्रवेश के बाद शहर छोड़ देने से इनकार कर दिया था।

रुकिया पर आईएस निगरानी रख रहा था। उसे अगस्त में पकड़ा गया। रुकिया पर 'शहावत' से संपर्क करने का आरोप लगा था। गौरतलब है, यह शब्द स्वतंत्र सीरियाई सेना के लिए आईएस इस्तेमाल करता है, जिन्हें यह 'गद्दार' कहता है।