'बिहार में महाजंगलराज': सीनियर जर्नलिस्ट की गोली मारकर हत्या, चार आरोपी गिरफ्तार

सीवान (14 मई): बिहार के सीवान में सीनियर जर्नलिस्ट हत्या मामले में पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। पत्रकार राजदेव रंजन की कल उस वक्त गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जब वो बाइक पर अपने घर लौट रहे थे। पत्रकार राजदेव रंजन के घर पर मातम का माहौल है। वहीं दैनिक हिंदुस्तान ने अपना विरोध जताते हुए अपने अखबार का पहला पन्ना ब्लैक एंड व्हाइट छापा है।

बिहार के सीवान में सीनियर जर्नलिस्ट हत्या मामले में अभी तक हत्यारों का कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। पत्रकार राजदेव रंजन की कल उस वक्त गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जब वो बाइक पर अपने घर लौट रहे थे। पत्रकार राजदेव रंजन के घर पर मातम का माहौल है। 

बिहार में एक हफ्ते के भीतर दो बड़े हत्याकांड से हड़कंप मचा है। सात दिन पहले शनिवार की रात रोडरेज मामले में कारोबारी के बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोप एमएलसी के बेटे पर लगा और अब बीच सड़क पर एक बड़े पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। 

अपराध की बढ़ती घटनाओं से किस तरह मुख्यमंत्री नीतीश विपक्ष के निशाने पर हैं। मारे गए पत्रकार का नाम राजदेव रंजन है और वो हिंदुस्तान अखबार में ब्यूरो चीफ थे। पत्रकार राजदेव रंजन कल शाम ऑफिस से घर लौट रहे थे। इसी  दौरान फ्लाइओवर के पास पहले से तैयार बैठे बदमाशों ने उन्हें रोका और दो गोली मारी। गोली लगने के बाद वे वहीं गिर गए। अस्पताल में डॉक्टरों ने राजदेव रंजन को मृत घोषित कर दिया था।

पत्रकार राजदेव रंजन को दो गोलिया लगीं। एक गोली माथे पर दूसरी चेहरे पर लगी। दोनों गोलियां नाइन एमएम की पिस्टल से चलाई गईं। पुलिस को मौके से पांच खाली कारतूस मिले हैं।

पत्रकार पर हमला किसने किया, क्यों किया ये अभी तक साफ नहीं है। लेकिन कानून व्यवस्था को लेकर नीतीश सरकार विपक्ष के निशाने पर है। जेडीयू सफाई दे रही है। नीतीश सरकार दावा कर रही है कि 48 घंटे के भीतर हत्यारे पकड़े जाएंगे। वही बीजेपी बिहार में महा जंगलराज का दावा कर रही है। बीजेपी नेता शाहनावज हुसैन ने पत्रकार की हत्या पर कहा है कि बिहार में महागठबंधन नहीं, महाजंगलराज है।