25 लाख की नौकरी छोड़ी सेना में भर्ती हुई यह मर्दानी...

नई दिल्ली (27 अप्रैल): जोधपुर की मेघना सिंह अमेरिकन कंपनी में लाखों के सैलेरी पैकज को छोड़कर भारतीय थल सेना की लेफ्टिनेंट बनी हैं। मेघना इन दिनों चेन्नई में कड़ी ट्रेनिंग के दौर से गुजर रही हैं। मेघना ने सेना में जाने के लिए जमीन आसमान एक दिया। नतीजा भी ऐसा ही निकला उसे सेना की तीनों विंग जल, थल और वायु सेना की परिक्षाओं में सफलता हासिल की।

राजस्थान का नाम सेना में सेवाएं देने वाले जांबाजों के लिए हमेशा सबसे आगे रहा है। यहां की बेटियां भी देश सेवा के लिए जान तक न्यौच्छावर करने तो तत्पर रहती हैं। ऐसे ही जोश और जुनून लिए मेघना ने सेना ज्वॉइन करने की ठानी। उसने सेना की तीनों विंग में चयन की सफलता के झंडे गाड़ कर यह साबित कर दिया है कि कोई भी मंजिल मुश्किल नहीं है।

मेघना जोधपुर काल्वी परिवार की बेटी है। मेघना के पिता रामसिंह कालवी विजयाराजे सिंधिया कृशि उपज मंडी समिति के सचिव हैं। माता विभा सिंह गृहिणी है और एक बहन गुंजन और भाई राहुल है, दोनों ही उससे छोटे हैं। मेघना ने प्राइमरी स्कूल तक एसपीएस स्कूल में पढ़ाई की। इसके बाद दसवीं तक की पढ़ाई माउंट आबू के सोफिया स्कूल में की। साइंस मैथ्स के साथ ग्यारहवीं और बारहवीं की पढ़ाई मेघना ने पिलानी स्थित बिड़ला बालिका विद्यापीठ से पूरी की।

इसके बाद उसने चेन्नई की एसआरएम यूनिवर्सिटी से शानदार अंकों के साथ कम्प्यूटर साइंस में बीटेक किया। यही पर पढ़ाई के दौरान ही मेघना का जुलाई 2014 में कैम्पस प्लेसमेंट हुआ। उसे बेंगलूरु में संचालित अमेरिकन कंपनी म्यू सिग्मा में सालाना करीब 25 लाख रुपए पैकेज पर नौकरी ऑफर की गई, लेकिन मेघना ने इस ऑफर के बाद भी सेना में भर्ती के अपने सपने को पूरा करने के लिए तैयारी जारी रखी और आखिर वो सपना पूरा हो गया।