News

गुजरात: नौकरी नहीं मिलने पर एमबीए, इंजिनियर छात्र बन रहे हैं ग्राम अधिकारी

अहमदाबाद (11 सितंबर): गुजरात में क्लास 3 के विलेज ऑफिसर की पोस्ट के लिए जिन 2343 कैंडिडेट्स को सिलेक्ट किया गया है। उनमें  सफल कैंडिडेट्स में काफी अधिक संख्या पोस्टग्रैजुएट्स, इंजिनियर्स, एमबीए, आयुर्वेद, होम्योपथी और लॉ ग्रैजुएट्स की है।

इस तरह से पढ़े-लिखे युवाओं का क्लास 3 जॉब के लिए आवेदन साफ दिखाता है कि प्रदेश में युवा किस तरह से बेरोजगारी से जूझ रहे हैं। उच्च शिक्षा पाने वाले के सामने रोजगार भारी संकट है। ऐसी स्थिति में वह उन नौकरियों के पीछे भी भाग रहे हैं, जिनमें अधिकतम 12वीं तक की पढ़ाई की ही मांग है।

इस पोस्ट के लिए आवेदन करने में अधिकतम योग्यता 12वीं पास रखी गई है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक विलेज ऑफिसर के 2343 कैंडिडेट्स में 950 इंजिनियर, आयुर्वेद और होम्योपथी के 12 डॉक्टर और 200 ऐसे हैं जिनके पास एमबीए, एमसीए और बी फार्मा की डिग्री है।

विलेज ऑफिसर के 2560 पद के लिए राज्य सरकार को 10 साल से अधिक आवेदन मिले थे। 10 लाख लोगों में से 2343 लोगों का चयन किया गया। चयनित कैंडिडेट्स का कहना है कि पढ़ाई के बाद भी उस स्तर की नौकरी उपलब्ध नहीं है। अगर उन्हें भविष्य में अच्छा ऑप्शन मिलेगा तो वे इस नौकरी को छोड़ देंगे।


Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 and Download our - News24 Android App . Follow News24online.com on Twitter, YouTube, Instagram, Facebook, Telegram .

Tags :

Top