केंद्रीय विद्यालयों नौकरी का सुनहरा मौका, 10000 से ज्यादा शिक्षकों के पोस्ट खाली

नई दिल्ली (10 फरवरी): अगर आप बीएड कर चुके हैं या फिर कर रहे हैं तो आपके लिए जल्द नौकरियों की भरमार आने वाली है। दरअसल केंद्रीय विद्यालयों में लंबे असरे से 10000 से ज्यादा शिक्षकों के पद खाली हैं।यही नहीं, जो अध्यापक यहां काम कर रहे हैं उनमें से अधिकतर कांट्रेक्ट बेसिस पर हैं।  और अब सरकार इसे जल्द भरने की योजना पर विचार कर रही है।

आंकड़ों पर नजर डालें तो देश भर के केंद्रीय विद्यालयों में साल 2014 में 4,296 टीचिंग पोस्‍ट खाली पड़ी थी। 2015 में खाली पोस्‍ट की संख्‍या 2019 थी। 2017 तक कुल खाली पड़ी पोस्‍ट की संख्‍या 10,285 तक पहुंच गई है. ये जानकारी केंद्र सरकार ने संसद में एक प्रश्न के उत्तर में दी ।

मानव संसाधन मंत्रालय के मुताबिक वैकेंसी भरना एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है. रिक्रूटमेंट समय-समय पर किया जाता है। जहां तक कांट्रेक्‍ट टीचर्स की बात है तो उन्हें आवश्यकता के आधार पर लिया जाता है।