जेएनयू देशद्रोह विवाद: आरोपी उमर खालिद हाईकोर्ट में दे सकता है जमानत अ्रर्जी

नई दिल्ली (23 फरवरी): जेएनयू देश द्रोह के आरोपी उमर खालिद न पुलिस के आगे समर्पण करने के बजाय हाई कोर्ट में जमानत याचिका दाखिल करदी है। इससे पहले देश द्रोह के सभी आरोपियों ने दिल्ली पुलिस को सीधी चेतावनी दी कि वो समर्पण नहीं करेंगे दिल्ली पुलिस चाहे तो कैंपस से उन्हें गिरफ्तार कर ले। इससे पहले दिल्ली के पुलिस के कमिश्नर बीएस बस्सी ने कहा था कि आरोपी पुलिस के साथ सहयोग करें।

बस्सी ने कहा कि अगर आरोपियो को पुलिस के किसी सुबूत पर शक है तो कोर्ट में चैलेंज करें। उन्होंने यह भी कहा था कि पुलिस के पास बहुत सारे ऑप्शन्स हैं, मगर ऑप्शन इस्तेमाल करने का फैसला जांच अधिकारी को करना है। उन्होंन सभी आरोपियों से यह भी कहा कि वो आत्मसमर्पण कर दें। जब ये सारी बातें चल ही रहीं थी कि उसी बीच एक आरोपी उमर खालिद की ओर से दिल्ली हाईकोर्ट में सरेंडर करने की याचिका दाखिल कर दी गयी, लेकिन तकनीकी कारणों से सुनवाई नहीं हो सकी।

माना जा रहा है कि उमर खालिद की ओर से आज (मंगलवार) फिर हाईकोर्ट में अर्जी लगायी जा सकती है। खालिद ने कन्हैया पर कोर्ट में हमले का हवाला देते पुलिस से सुरक्षा की भी मांग की। उधर, जेएनयू टीचर्स एसोसिएशन ने कहा कि वीसी जगदीश कुमार ने आश्वासन दिया कि पुलिस कैंपस में नहीं घुसेगी। टीचर्स ने वीसी को ज्ञापन सौंप छात्रों का निलंबन रद्द करने की मांग भी की।