जेएनयू देशद्रोह विवाद: गिलानी ने टांग अड़ायी, सरकार को दी चेतावनी

नई दिल्ली (23 फरवरी): घाटी में अलगाववाद फैलाने में लगे हुरियत के नेता सैयद  अली शाह गिलानी ने जेएनयू विवाद में टांग अड़ानी शुरु कर दी है। गिलानी ने कहा है कि एनडीए सरकार जेएनयू के आरोपी छात्रों के खिलाफ कार्रावाई करेगी तो कश्मीर में उसे कड़ी प्रतिक्रिया झेलनी होगी। जेएनयू के कुछ छात्रों पर संसद पर हमला करने के मास्टराइंड देश द्रोही अफज़ल गुरु और मक़बूल भट पर आधारित एक कार्यक्रम आयोजित करने का आरोप है।

हुरियत के नेता ने कहा है कि जेएनयू में विचारों की अभिव्यक्ति पर रोक लगाने और कार्यक्रम करने वाले छात्रों के खिलाफ कारर्वाई करने से भारत की लोकतांत्रिक छवि को ठेस लगेगी। हुरियत के प्रवक्ता ने ऐयाज़ अक़बर ने कहा कि जेएनयू में ऐसी घटना पहली बार नहीं हुई है। कश्मीरी छात्र जहां भी पढ़ रहे हैं वो हमेशा शांतिपूर्ण ढंग से अपनी आवाज़ उठाते रहे हैं।  ऐयाज़ ने यह भी कहा कि जेएनयू के छात्रों ने कोई हिंसक या अनैतिक कार्य नहीं किया है। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के निर्दलीय विधायक इंजीनियर राशिद ने कहा कि जेएनयू के वो सभी छात्र जिन्होंने क्श्मीरियों की आवाज़ उठायी हैं, देशभक्त भारतीय हैं।