11 शिक्षकों ने एक रिपोर्ट जारी कर JNU को बताया 'गंदे काम' का अड्डा

नई दिल्ली (28 अप्रैल): जेएनयू को लेकर आए दिन कुछ न कुछ बातें सामने आती रहती हैं। अब नया मामला इसे 'सेक्स का अड्डा' बताने का है। 11 शिक्षकों ने एक ऐसी रिपोर्ट तैयार की है जिसमें जेएनयू को 'संगठित सेक्स का अड्डा' बताया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार शिक्षकों द्वारा तैयार की गई यह रिपोर्ट 200 पन्नों की है।

रिपोर्ट के बारे में कहा जा रहा है कि इसे 2015 में ही तैयार कर लिया गया था लेकिन उस समय इसे जारी नहीं किया गया था। बता दें कि इसे जेएनयू प्रशासन को सौंप दिया गया है। सेंटर फॉर लॉ एंड गवर्नेंस की प्रोफेसर अमिता सिंह 11 शिक्षकों के समूह को हेड कर रही हैं। उन्होंने दावा किया है कि जेएनयू हॉस्टल की मेस में सेक्स वर्करों का देखा जाना आम बात है।

क्या बताया अमिता सिंह ने... > जेएनयू में हजारों छात्रों को शराब और दूसरी अनैतिक गितिविधियों के लिए 5 हजार तक का जुर्माना लगाया जा चुका है। > हॉस्टल के गेट पर भी शराब के बोतलों को देखा जा सकता है। > जेएनयू में फैले सेक्स रैकेट में सिक्योरिटी स्टाफ के कुछ लोग भी शामिल हैं। > इस रैकेट में शामिल सेक्स वर्कर्स यहां की छात्रों के बीच का माहौल भी गंदा करती हैं।