जेएनयू नारेबाज़ी : देशद्रोह के आरोपी उमर खालिद समेत दो का सरेंडर

नई दिल्ली (24 फरवरी): देशद्रोह के आरोप में जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्र उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य ने आधी रात को सरेंडर कर दिया। दोनो जेएनयू के गेट से रात करीब 11.35 बजे बाहर निकले।

दोनों निजी गार्ड की जीप में यूनिवर्सिटी से बाहर निकले। दोंनों ने रात करीब 11.55 बजे पुलिस के सामने सरेंडर किया। दोनों को रात को वसंत विहार थाने ले जाया गया। बताया गया है कि वकीलों की सलाह पर उमर और अनिर्बान ने सरेंडर किया। 

इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने दिन में सरेंडर को लेकर इन छात्रों को कोई राहत देने से इनकार कर दिया था। इन छात्रों ने हाईकोर्ट से गुहार लगाई थी कि उन्हें सीक्रेट जगह पर सरेंडर करने की अनुमति दी जाए। उन्होंने इसके लिए जेएनएसयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर पिछले हफ्ते हुए हमले का हवाला दिया था जब उसे ज़मानत की अर्ज़ी पर सुनवाई के लिए कोर्ट ले जाया जा रहा था।

पुलिस ने इस याचिका का विरोध करते हुए कहा था कि छात्रों की चुनी जगह पर सरेंडर होने से कानून और व्यवस्था बनाए रखने में दिक्कत होगी।

कोर्ट ने उमर और अन्य की अर्ज़ी को खारिज़ करते हुए कहा, आरोपी अपनी मर्ज़ी के हिसाब से नहीं चल सकते। इसके लिए सरेंडर या अरेस्ट की प्रक्रिया का पालन करना होगा। उन्हें मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाना होगा। वही तय करेंगे कि पुलिस हिरासत में भेजा जाए या जेल।

बता दें कि 9 फरवरी रात को जेएनयू में कथित तौर पर देशविरोधी नारेबाज़ी की घटना सामने आने के बाद से ये मामला लगातार सुर्खियों में बना हुआ है।