जेएनयू छात्रा ने फेसबुक पर लिखी शोषण की कहानी

नई दिल्ली(13 सितंबर): जेएनयू की पीएचडी स्टूडेंट ने लेफ्ट विंग एआईएसएफ के एक मेंबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। अनुभूति एगनेस बारा ने पोस्टर और फेसबुक पोस्ट के जरिए एफआईआर कराने की जानकारी दी है। 

- अनुभूति जेएनयू छात्र संघ की उपाध्यक्ष और आइसा सदस्य रह चुकी हैं। उनका कहना है कि उन्होंने यौन शोषण, मानसिक प्रताड़ना, धोखा देने और फ्रॉड करने को लेकर ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) के पूर्व सदस्य आशीष रघुवंशी के खिलाफ एफआईआर के साथ एआईएसएफ में भी शिकायत की है।

- जेएनयू के कुछ स्टूडेंट्स के मुताबिक, सोमवार सुबह हॉस्टल्स में ये पर्चे नजर आए, जिसमें सिग्नेचर में अनुभूति का नाम है। पीड़िता का कहना है कि वह सात महीने आरोपी के साथ रिलेशनशिप में थी, मगर उस दौरान उन्हें पता चला कि वह उनकी भावनाओं के साथ खेल रहा है। उनका आरोप है कि आरोपी ने धोखे से उनके करीब 60 हजार रुपये भी ले लिए।

- पर्चे के जरिए स्टूडेंट ने कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (सीपीआई) की स्टूडेंट्स विंग एआईएसएफ की लीडरशिप पर जेंडर इंसेंसिविटी, हैरसमेंट और टॉर्चर का आरोप लगाया है।

- पीड़िता का कहना है, '14 जून को एआईएसएफ में इसकी रिपोर्ट की और 19 जून को एआईएसएफ के नैशनल प्रेजिडेंट वलीउल्लाह खादरी समेत कुछ और मेंबर्स के साथ मीटिंग भी हुई। स्टूडेंट का कहना है, मेरी डिमांड थी कि आरोपी दो हफ्ते में उनके पैसे और सामान लौटाए, जिसमें एक फोन भी शामिल है। आरोपी को उसकी पोजिशन से हटाया जाए और वह उनसे लिखित माफी मांगे। मगर मामले को 3 महीने हो चुके हैं, मगर आरोपी ने उनका पैसा नहीं लौटाया।'