जेएनयू विवाद: हाईकोर्ट ने ठुकराई याचिका, एनआईए नहीं करेगा जांच

नई दिल्ली (16 फरवरी: जेएनयू विवाद हाईकोर्ट तक भी पहुंचा, लेकिन दिल्ली उच्च न्यायालय नें उस याचिका को ठुकरा दिया है जिसमें कहा गया था कि जेएनयू परिसर में चली कथित राष्ट्र विरोधी गतिविधियों की जांच एनआईए से कराई जाए। न्यायमूर्ति मनमोहन ने इस याचिका को 'अपरिपक्व' करार देते हुए खारिज कर दिया।

उन्होंने कहा कि यह घटना 9 फरवरी को हुई थी। अदालत को यकीन है कि दिल्ली पुलिस सभी पहलुओं की जांच करेगी। याचिकाकर्ता ने किसी भी सरकार के प्रतिनिधित्व की नुमाइंदगी के बिना अदालत का दरवाजा खटखटाया है। यह याचिका अपरिपक्व है। न्यायमूर्ति मनमोहन ने कहा, 'मैं इस स्तर पर हस्तक्षेप नहीं कर रहा हूं। इसकी जांच दिल्ली पुलिस को ही करने दें। एनआईए का हस्तक्षेप करना जल्दबाजी होगी।'

केंद्र सरकार के अधिवक्ता अनिल सोनी और दिल्ली पुलिस के वकील राहुल मेहरा ने अदालत को बताया कि पुलिस इसकी जांच कर रही है कि जेएनयू परिसर में राष्ट्र विरोधी नारेबाजी किसने की और कौन इसके पीछे कौन था। याचिका में जेएनयू में राष्ट्र विरोधी गतिविधियों की एनआईए से और न्यायिक जांच की मांग की गई थी।