#JNU छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार जेल से रिहा

नई दिल्ली (3 मार्च): देशविरोधी नारे लगाने के आरोपी जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार गुरुवार देर शाम तिहाड़ जेल से रिहा कर दिया गया है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उसे हेडक्वार्टर वाले गेट से रिहा किया गया है। 

बता दें कि दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को उसे अंतरिम जमानत दी थी। कन्हैया को 10 हजार रुपये के निजी मुचलके व इतनी ही राशि के जमानती पर छह माह के लिए अंतरिम जमानत दी गई है।

इससे पहले अदालत में सोमवार को कन्हैया की जमानत याचिका पर करीब तीन घंटे तक बहस हुई थी। सुनवाई के बाद अदालत ने अपने आदेश को सुरक्षित रख लिया था। कन्हैया की तरफ से अदालत को बताया गया कि उसने कभी देशविरोध नारे नहीं लगाए हैं। 

बचाव पक्ष के वकीलों का कहना था कि उसे गलत मुकदमे में फंसाने का प्रयास किया जा रहा है। जबकि दिल्ली पुलिस का कहना था कि जेएनयू परिसर में कन्हैया और उसके साथियों ने राष्ट्रविरोधी नारे लगाए थे। उसके पास पुख्ता सुबूत हैं, जिसमें आरोपियों को अफजल गुरु के पोस्टर लिये और नारे लगाते हुए साफ देखा जा सकता है।

बता दें कि 9 फरवरी को जेएनयू कैंपस में देशविरोधी नारे लगाने के मामले में जेएऩयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार को गिरफ्तार किया गया था। इसका वीडियो मीडिया में आने के बाद दिल्ली पुलिस ने देशद्रोह की धारा में मुकदमा दर्ज किया था। जिसके बाद 12 फरवरी को कन्हैया कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया था।