JNU में लगे पोस्टर्स, 'होली महिला-विरोधी त्यौहार'

नई दिल्ली (29 मार्च): जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी से जुड़े विवाद कम होने का नाम ही नहीं ले रहे। अब खबर आई है कि कैंपस में होली के त्‍योहार का लेकर कुछ पोस्‍टर लगाए गए हैं। इनमें होली को महिला विरोधी त्‍योहार बताया गया है। 

मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, पोस्‍टर्स पर 'फ्लेम्‍स ऑफ रेसिस्‍टेंस' ग्रुप का नाम लिखा गया है। पोस्‍टर में कहा गया है "इतिहास है कि इस त्‍योहार के बहाने दलित महिलाओं का यौन शोषण किया जाता था।" इन पोस्‍टर्स का शीर्षक 'होली में क्‍या पवित्रता' है। ये पोस्‍टर कैंपस में स्थित स्‍कूलों, खाने-पीने की जगहों और मार्केट में लगाए गए हैं। साथ ही सोशल मीडिया पर भी ये पोस्‍टर शेयर किए जा रहे हैं। जिनपर कई तरह की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

पोस्‍टर में लिखा है, "ब्राह्मणवादी पितृसतात्‍मक भारत एक असुर बहुजन महिला होलिका को जलाने का जश्‍न क्‍यों मनाता है? होली में क्‍या पवित्रता है? इतिहास बताता है कि जश्‍न के नाम पर दलित महिलाओं का यौन शोषण किया जाता था। होली का त्‍योहार मनाना महिला विरोधी है।"