अलगाववादी नेता यासीन मलिक ने पुलिसकर्मी को मारा थप्पड़

नई दिल्ली (6 जून): जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) प्रमुख और अलगाववादी नेता यासीन मलिक ने सरेआम पुलिसकर्मी को थप्पड़ मारते कैमरे में कैद हो गए। शनिवार को श्रीनगर में यासीन मलिक अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ सरकार द्वारा किए जमीन आवंटन के फैसले के खिलाफ प्रस्तावित प्रदर्शन का प्रचार कर रहे थे।

यहां पहले मलिक के समर्थकों ने पुलिस वालों के साथ झगड़ा किया और जब पुलिस ने रोकना चाहा तो यासीन मलिक समेत सभी समर्थकों ने पुलिस पर हमला कर दिया। इसी दौरान यासीन मलिक भी पुलिस पर हमला करते हुए कैमरे में कैद हो गए। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर एक अन्य मामले में सेंट्रल जेल, श्रीनगर भेज दिया। साथ ही उनका प्रस्तावित प्रदर्शन रद्द कर दिया गया।

इधर, मामले पर सफाई देते हुए मलिक ने कहा कि पुलिस वाले तंग कर रहे थे। दरअसल, सैनिक कॉलोनी और कश्मीरी पंडितों के लिए टाउनशिप बनाने की प्रस्तावित योजना को लेकर यासिन मलिक और उसका संगठन लगातार विरोध कर रहे हैं। मलिक ने कहा कि पांच पुलिस स्टेशनों के जवान सारी रात स्थानीय लोगों को तंग करते रहे।

इससे पहले यासिन मलिक 3 जून को ही जमानत पर जेल से रिहा हुए थे। गौर हो कि उन्हें 25 मई को लाल चौक पर प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार किया गया था जिसके बाद तीन जून को जमानत पर उन्हें रिहा किया गया था।