आतंकी खालिद के मारे जाने के बाद अब सुरक्षाकर्मियों के टॉप लिस्ट में है ये 4 आतंकवादी

श्रीनगर (9 अक्टूबर): घाटी में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाकर्मियों का ऑपरेशन क्लीन लगातार जारी है। अपने ऑपरेशन क्लीन के तहत सुरक्षाकर्मियों ने इस साल घाटी में अबतक 160 से ज्यादा आतंकियों को मार गिराया है। मारे गए इन आतंकियों लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर बशीर अहमद वानी, अबू दुजाना, अबू इस्माइल और हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर सबजार भट्ट के नाम शामिल हैं और अब इस लिस्ट में जैश-ए-मोहम्मद के टॉप कमांडर खालिद का भी नाम जुड़ गया है। खालिद को सुरक्षावलों ने आज सुबह बारामुला में एक मुठभेड़ में मार गिराया गया।

सुरक्षाकर्मियों के ऑपरेशन क्लीन ने घाटी में आतंकियों की रीढ़ तोड़कर रख दी है। खालिद के मार गिराए जाने के बाद कश्मीर में अब ये चार मोस्ट वांटेड आतंकवादी हैं जिन्हें सुरक्षाकर्मी जल्द से जल्द खत्म करना चाहते हैं।

जाकिर मूसा, अल-कायदा...

जाकिर मूसा सुरक्षाबलों की सूची में यह टॉप पर है। पहले ये हिज्बुल में था और बाद में इससे अलग होने के मूसा ने अंसार गजवत-उल हिंद- अल-कायदा नाम से एक कश्मीरी संगठन बनाया। बहुत कम समय में मूसा घाटी के युवाओं और दूसरे आतंकवादी गुटों के बीच लोकप्रिय हो गया। कई आतंकवादी, जिसमें कश्मीर घाटी में लश्कर का प्रमुख अबू दुजाना भी उसके साथ अलग-अलग चरणों में शामिल हुआ था। अबू दुजाना ने शायद उसकी हथियारों और जमीनी नेटवर्क तैयार करने में मदद की थी। सुरक्षाबल जाकिर मूसा को खत्म करना चाहते हैं क्योंकि वह कश्मीर और इसके बाहर कट्टरपंथी इस्लाम का झूठा प्रचार कर रहा है। 

रियाज नाइकू, हिज्बुल मुजाहिदीन...

रियाज नाइकू हिज्बुल मुजाहिद्दीन का कश्मीर चीफ है और ये A++ कैटेगरी का आतंकवादी है> 29 साल का नाइकू हिज्बुल के सबसे अनुभवी कमांडरों में से एक है। फिलहाल ये कश्मीर में आतंकी गतिविधियों को ऑपरेट कर रहा है। एक मुठभेड़ में मारे गए आंतकी यासीन इटू के बाद उसने कश्मीर ऑपरेशन संभाल लिया है। अवंतीपोरी के दरबग का रहने वाला नायकू हाईटेक है और उसे लेटेस्ट टेक्नोलॉजी की समझ है। हाल ही में वो मारे गए एक आतंकवादी के जनाजे में सार्वजनिक तौर पर नजर आया था। उसके खिलाफ पुलिस में हत्या के कई मामले दर्ज है। इनमें से कुछ पुलिसकर्मियों की भी हत्या के मामले हैं।

सद्दाम पद्दर, हिज्बुल मुजाहिदीन...

सद्दाम पद्दर मारे गए हिज्बुल कमांडर बुरहान वानी द्वारा साझा की गई तस्वीर में दिख रहे 12 लोगों के समूह में अब इकलौता बचा हुआ सक्रिय आतंकी है। पद्दर के अलावा, फोटो में दिख रहा तारिक पंडित भी जिंदा है मगर वो अब आत्मसमर्पण कर चुका है। सद्दाम पद्दार पहले लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य था लेकिन 2015 में वो हिज्बुल में शामिल हो गया। मूसा के हिज्बुल कमांडर के कश्मीर चीफ का पद छोड़ने के बाद उसका नाम अगले हिज्बुल चीफ के तौर पर लिया जा रहा था। मगर बाद में नाइकू को हिज्बुल का कश्मीर ऑपरेशन की जिम्मेदारी दे दी गई। सद्दाम उन चंद लोगों में शामिल था जिसपर बुरहान वानी भरोसा करता था।

 

जीनत-उल-इस्लाम, लश्कर-ए-तैयबा...

घाटी में लश्कर लीडरशिप संभालने में जीनत-उल-इस्लाम का नाम सबसे प्रमुख तौर पर उभरकर सामने आया है। जीनत शोपियां फरवरी में शोपियां में हुए आंतकी हमले के मास्टर माइंड माना जाता है।इस हमले में तीन सैनिक शहीद हुए थे। उसकी पहचान आईईडी विशेषज्ञ के तौर पर है। लश्कर में शामिल होने से पहले वो अल-बदर आतंकवादी संगठन में था।