ये है ISIS का 4 साल का जेहादी जॉन, बिछा सकता है लाशें

सीरिया (6 जनवरी): आतंकी बगदादी की हैवानियत के बारे में लगभग सभी जानते हैं। उसके टेरर ब्रिगेड का आतंक भी देखा होगा। लेकिन अब आपको बताते हैं बगदादी का सबसे जूनियर जेहादी जॉन के बारे में। उस जेहादी जॉन की उम्र 4 साल है। लेकिन अभी से ही न सिर्फ उसने हथियार चलाने की ट्रेनिंग ले ली है। यही नहीं वो आतंकियों की तरह जहर भी उगलता है और यही वजह है अब उसे बगदादी से भी ज्यादा खतरनाक और खूंखार कहा जा रहा है।

लाशें बिछा सकता है 4 साल का जेहादी जॉन जिस छोटी उम्र में इसके हाथ में पेन होनी चाहिए थी, बगदादी ने उन्ही हाथों में खतरनाक हथियार थमा दिए हैं। हैरत की बात ये है कि 5 साल से कम उम्र का ये बच्चा बगदादी का जूनियर जेहादी जॉन के नाम से जाना जा रहा है। क्योंकि ये न सिर्फ हथियारों को चलाना जानता है बल्कि लाशें भी बिछा सकता है।

बन चुका है पोस्टर ब्वॉय कम्र उम होने की वजह से बगदादी का ये जूनियर जेहादी जॉन पोस्टर ब्वॉय तक बन चुका है। दरअसल इस बच्चे की मां खुद आईएसआईएस की फाइटर है। पिछले साल एक अंग्रेजी अखबार ने आईएस की महिला आतंकी ग्रेस डेयर को एके 47 और हथियारों की ट्रेनिंग लेते हुए तस्वीरों में कैद किया था।   दक्षिणी लंदन की है इसकी मां जूनियर जिहादी जॉन और इसकी मां मूल रूप से दक्षिणी लंदन के रहने वाले हैं और ईसाई धर्म के हैं। लेकिन ग्रेस डेयर ने इस्लाम कबूल करके अपना नाम खादिजा डेयर रख लिया और अपने बेटे के साथ सीरिया भाग गई।  

मां है पहली वुमन आईएस फाइटर ब्रिटिश और यूएस होस्टेज का सिर कलम कर आईएस की पहली वुमन आईएस फाइटर बनने की इच्छा जताने के बाद ग्रेस को सेलिब्रेटी का दर्जा मिला। ब्रिटिश इंटेलिजेंस के मुताबिक, ग्रेस डेयर उन लोगों के लिए रोल मॉडल बनना चाहती है, जो आईएस ज्वाइन करना चाहते हैं।

जेहादी जॉन के नाना ने की वीडियो की पुष्टि लंदन में रहने वाले इस जूनियर जेहादी जॉन के नाना ने इस वीडियो की पुष्टि की है। वो कहते हैं कि हम क्रिश्चियन हैं, लेकिन वो मुस्लिम बनकर अपने बेटे के साथ सीरिया चली गई। अपने नाती का ये वीडियो देखकर मुझे बहुत शर्मिंदगी है।

पति को छोड़कर चली गई थी सीरिया ग्रेस के पिता के मुताबिक ग्रेस 2012 में लंदन छोड़कर पति के साथ सीरिया चली गई थी। ग्रेस और उसके पति ने आईएस ज्वाइन कर लिया था। कुछ महीने पहले हुए हवाई हमले में इसका पति मारा जा चुका है।

लेकिन अब ये जूनियर जॉन अपने माता पिता की राह पर चल चुका है। आईएसआईएस के आतंकी इस कड़ी ट्रेनिंग दे रहे हैं ताकि ये भी आतंकियों की हुकूमत के लिए लड़ाई में शामिल हो सके।