ये है IS में शामिल होने वाला 'पहला व्हाइट ब्रिटिश' लड़का, नाम है 'जिहादी जैक'

नई दिल्ली (24 जनवरी): एक 20 वर्षीय मुस्लिम कन्वर्ट जिसकी पहचान 'जिहादी जैक' नाम से होती है, पहले 'श्वेत ब्रिटिश' लड़के के तौर पर उभरा है, जो सीरिया में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल हो गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, जैक लैट्स नाम का यह लड़का 18 साल की उम्र में इस्लाम कबूल करने के बाद सीरिया पहुंच गया था। उसने अपने माता पिता से कहा था कि वह कुबैत में पढ़ाई करने जा रहा है। फुटबॉल में दिलचस्पी रखने वाला और और एक अच्छा छात्र रह चुके इस लड़के ने अपने माता पिता से सीरिया में आईएस के साथ सितंबर 2014 में होने की बात स्वीकार की है।

हालांकि, ऑक्सफोर्ड सिटी में रहने वाले लड़के के माता-पिता ने कोई भी टिप्पणी करने से मना किया है। लेकिन परिवार के नजदीकी ने बताया, "उसके माता-पिता उसकी सुरक्षा को लेकर बेहद चिंतित थे, जब उसने बताया कि वह सीरिया में है। पिछले दो साल उनके लिए किसी बुरे सपने की तरह बीते हैं। वे चाहते हैं, कि वह किसी भी तरह उनके पास आ जाए।"

इस लड़के के पिता एक ऑर्गेनिक फार्मर और आर्कियोबॉटनिस्ट हैं, जबकि, मां सैली पूर्व में एक बुक एडिटर रह चुकी है।