सरकार ने दिया यह भरोसा, 41 दिन बाद टूटी ज्वैलर्स की हड़ताल

नई दिल्ली (12 अप्रैल): देश में 41 दिनों से चली आ रही ज्वैलर्स की हड़ताल मंगलवार को खत्म हो गई है। देश के ज्यादातर बड़े शहरों में ज्वैलर्स ने हड़ताल समाप्त कर दुकानों पर कारोबार शुरू कर दिया है। ज्वैलर्स पिछले 41 दिन से एक फीसदी एक्साइज ड्यूटी वापस लेने के लिए सरकार पर दबाव बना रहे थे।   ज्वैलर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष तरुण गुप्ता ने बताया कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हमें भरोसा दिलाया है कि हमारी दुकानों पर इंस्पेक्टरी राज वापस नहीं आएगा। इसके लिए वित्त मंत्री ने एक हेल्पलाइन जारी करने का भरोसा दिया है। वित्त मंत्री के इस भरोसे के बाद ज्वैलर्स ने हड़ताल खत्म करने की घोषणा की है। गुप्ता के मुताबिक सरकार अगर 30 अप्रैल तक अपना वादा पूरा नहीं करती है, तो ज्वैलर्स फिर से विरोध कर सकते हैं।   1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान बुलियन और ज्वैलरी एसोसिएशन के सचिव योगेश सिंघल के मुताबिक, ज्वैलर्स की पिछले 42 दिनों की हड़ताल से 1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान हो चुका है। सिंघल ने बताया कि 41 दिनों की हड़ताल के दौरान व्यापार को भारी क्षति पहुंची है और कई कारीगरों को काफी असुविधाओं का सामना करना पड़ा। दबाव में आकर कई कारीगर आत्महत्या करने को बाध्य हुए।