जेवर गैंगरेप पीड़िता ने की आत्महत्या की कोशिश

नई दिल्ली(5 जून): यमुना एक्‍सप्रेस वे पर जेवर के पास हाईवे पर हुए गैंगरेप केस की चार पीड़िताओं में से एक ने रविवार को आत्महत्या करने का प्रयास किया। पीड़िता ने खुद को पंखे से लटकाया और जान देने की कोशिश की लेकिन मौके पर पहुंचे परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां उसकी जान बच गई।

-  आत्महत्या की कोशिश करने वाली पीड़िता महिला के पति के मुताबिक, वो रात में छत पर सो रहा था और उसकी पत्नी नीचे कमरे में सो रही थी।

- पत्नी ने सुबह करीब 3 बजे सीलिंग फैन से लटकने की कोशिश की। इसी बीच उनकी बेटी किसी वजह से उठी थी और उसने खुदकुशी करते हुए देख लिया। वह तेज से चीखी और परिवार के अन्य सदस्यों को बुलाया। मैं तुरंत भागता हुआ नीचे गया और अपनी पत्नी को बचाया।'

- एक अंग्रेजी अखबार को पीडि़ता ने बताया कि, 'मेरे साथ जो कुछ हुआ, उसको लेकर मैं बहुत दुखी हूं। मेरी उम्र 50 के आसपास है लेकिन किसी भी आरोपी ने मेरी उम्र का लिहाज नहीं किया। गैंगरेप करने वालों ने हम चारों औरतों का रेप किया। समाज में मैंने अपना सम्मान खो दिया है। पुलिस ने भी अब तक इस मामले में कोई खास सफलता नहीं हासिल की है। ऐसी बेगैरत जिंदगी जीने से भला क्या फायदा है?'