महागठबंधन की उम्र को छोटा क्यों कर रही है कांग्रेस?: जेडीयू

नई दिल्ली (27 जून): राष्ट्रपति चुनाव में जेडीयू की ओर से रामनाथ कोविंद का समर्थन करने के फैसले के बाद कांग्रेस और जेडीयू की रार बढ़ती जा रही है। जेडीयू नेता और राज्यसभा सांसद केसी त्‍यागी ने आरजेडी के साथ गठबंधन तोड़ने का इशाना किया है। उन्होंने कहा कि जब भाजपा से गठबंधन था तो उनकी पार्टी काफी सहज थी।


उन्‍होंने पत्रकारों से कहा, 'हम पांच साल बिहार गठबंधन चलाना चाहते थे, लेकिन ऐसे बयान बर्दाश्‍त नहीं किए जाएंगे। जेडीयू ने गुलाम नबी आजाद के बयान पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि किसी पार्टी के आला नेता के खिलाफ ऐसा बयान सही नहीं है। उन्होंने कहा कि क्यों वह बिहार में महागठबंधन के उम्र को कम करने पर तुली प्रतीत हो रही है।


उन्‍होंने कांग्रेस और उसकी कार्यशैली पर भी जमकर हमले बोले। केसी त्‍यागी ने कहा, 'गांधी और नेहरू का सपना कांग्रेस पूरा नहीं कर पाई। हम यूपीए में नहीं हैं और हम एनडीए से भी बाहर हैं। हमें दूसरी पार्टियां सुझाव न दें। कांग्रेस के इस तरह के बयानों से गठबंधन की उम्र घटती है।


जदयू नेता ने एक बार फिर दोहराया कि कि उनकी पार्टी राष्‍ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद को ही समर्थन देगी।