आजाद बोले- नीतीश साथ दें तो गैर-बीजेपी सरकार संभव, JDU ने कहा- मोदी हमारे सारथी, कांग्रेस सोचना बंद करे

न्यूज 24 ब्यूरो, पटना (16 मई): जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद नीतीश कुमार सरीखे कुछ नेताओं की मदद से केंद्र में गैर बीजेपी सरकार बनाई जा सकती है। आजाद के इस बयान पर जेडयू ने पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस अपने मसलहों पर माथा पच्ची करे। हमारे बारे में सोचना छोड़ दे। जेडीयू के महासचिव केसी त्यागी ने कहा है कि जेडीयू एनडीए का सबसे भरोसेंद साथी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमारे सारथी हैं और युद्ध में सारथी नहीं बदले जाते। केसी त्यागी ने आजाद पर तंज भी कसा और कहा कि गुलाम नबी आजाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं हमारे प्रवक्ता नहीं हैं।इससे पहले गुलाम नबी आजाद ने यह भी कहा था कि गैर बीजेपी सरकार बनने की स्थिति में  कांग्रेस प्रधानमंत्री पद का दावा छोड़ सकती है। उन्होंने पटना में फिर दोहराया  कि,बिहार के सीएम नीतीश कुमार गैर बीजेपी सरकार बनाने में अहम रोल अदा कर सकते हैं। दरअसल,  लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें चरण का मतदान अभी खत्म भी नहीं हुआ है, लेकिन राजनीतिक दलों के सूरमाओं ने अभी से ही अगली सरकार बनाने और बिगाड़ने की रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है, ये उसी की बानगी है। खासतौर पर विपक्षी पार्टियों के नेताओं में केंद्र की अगली सरकार बनाने को लेकर कुछ ज्यादा ही उत्सुकता नजर आ रही है।पिछले दो-तीन दिनों में विपक्षी दलों के कई बड़े नेताओं के बयान सामने आए हैं और सभी नेताओं के बयान एक-दूसरे से मेल नहीं खा रहे हैं। तेलांगना के सीएम चंद्रशेखर राव ने कहा है कि वह माइनस राहुल गांधी कांग्रेस नेतृत्व स्वीकारने को तैयार हैं। वहीं, एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार कहते हैं, 'अगर राष्ट्रपति बीजेपी को सरकार बनाने के लिए बुलाते भी हैं तो वह सदन में अपना बहुमत सिद्ध नहीं कर सकेगी। मोदी सरकार का भी हश्र वही होगा, जो 1996 में अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिन की सरकार का हुआ था।Images Courtesy:Google