नीतीश के मंत्री खुर्शीद ने कहा- लगाता रहूंगा जय श्री राम का नारा


पटना (30 जुलाई): नीतीश सरकार में मंत्री खुर्शीद अहमद पर जय श्री राम का नारा लगाने के लिए फतवा जारी किया गया है। इसपर खुर्शीद ने कहा कि अगर प्रदेश की दस करोड़ जनता को जय श्री राम कहने से फायदा होता है तो वह आगे भी ऐसा करते रहेंगे।

आपको बता दें कि टेस्ट के दिन खुर्शीद ने विधानसभा के अंदर जय श्री राम के नारे लगाए थे। फतवा जारी होने के बाद खुर्शीद ने मीडिया से कहा कि उन्हें जय श्री राम के नारे लगाने से कोई एतराज नहीं। उन्होंने कहा कि अगर जयश्री राम कहने से बिहार के दस करोड़ जनता का फायदा होता है तो मैं सुबह-शाम जय श्री राम कहूंगा।
 
खुर्शीद अहमद पर जय श्री राम का नारा लगाने के लिए फतवा जारी कर दिया गया है। मंत्री के खिलाफ ये फतवा इमारत-ए-शरीफ के मुफ्ती ने जारी किया है। फतवा जारी कर खुर्शीद अहमद को इस्लाम से बेदखल कर दिया गया है। साथ ही फतवे के आधार पर उनका निकाह टूटा हुआ माना गया है। फतवे में कहा गया है कि गलती से तौबा करने के बाद उन्हें दोबारा निकाह करना होगा। मुफ्ती ने फतवा जारी कर मंत्री खुर्शीद पर सियासत के लिए ईमान बेचने का आरोप लगाया है।

इमारत-ए-शरीफ के मुफ्ती सोहेल अहमद कासमी ने अपने फतवे में लिखा है कि जो मुसलमान श्रीराम का नारा लगाए और कहे कि मैं रहीम के साथ राम की भी पूजा करता हूं। मैं हिदुस्तान के सभी धार्मिक स्थलों पर माथा टेकता हूं। ऐसा शख्स इस्लाम से खारिज और मुर्तद है। उसकी बीवी निकाह से खारिज हो गई। ऐसे शख्स पर दोबारा इमान और निकाह और माफी लाजिमी है। तब तक नए तरीके से निकाह और तौबा ना करे, तमाम मुसलमानों के लिए उससे किसी तरह के ताल्लुकात रखना शरीयत के मुताबिक जायज नहीं है। ऐसे शख्स के खुराफात से खुद बचें और दूसरे मुसलमानों को भी बचाएं।

वीडियो: