Blog single photo

2019 से पहले कांग्रेस को लगा तगड़ा झटका

2019 लोकसभा चुनाव में भले ही अभी समय है लेकिन सत्ता के गलियारे में अभी से ही सुगबुगाहट दिखाई दने लगी है। इस सबके बीज कांग्रेस के सहयोगी दल जेडीएस की ओर से बड़ा बयान आया है। जेडीएस का ये बयान एक तरह से कांग्रेस और राहुल गांधी के लिए झटका माना जा रहा है।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 जून): 2019 लोकसभा चुनाव में भले ही अभी समय है लेकिन सत्ता के गलियारे में अभी से ही सुगबुगाहट दिखाई दने लगी है। इस सबके बीज कांग्रेस के सहयोगी दल जेडीएस की ओर से बड़ा बयान आया है। जेडीएस का ये बयान एक तरह से कांग्रेस और राहुल गांधी के लिए झटका माना जा रहा है। आपको बता दें कि कर्नाटक की सत्ताधारी पार्टी जेडीएस की ओर से कहा गया है कि लोकसभा चुनाव के बाद ही प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के मुद्दे पर फैसला होना चाहिए।गौरतलब है कि जेडीएस का बयान ऐसे समय में आया है जब हाल ही में कर्नाटक चुनाव के दौरान विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जाहिर की। दरअसल, राहुल गांधी ने कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा था कि अगर उनकी पार्टी चुनाव जीतती है तो वो प्रधानमंत्री बनने के लिए तैयार हैं।  आपको बता दें कि जेडीएस के महासचिव दानिश अली ने कहा कि अगले साल लोकसभा चुनावों के बाद एकजुट विपक्ष द्वारा प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के मुद्दे पर फैसला होना चाहिए। उन्होंने पहले के तीन मौकों का जिक्र किया जब चुनावों के बाद प्रधानमंत्री का चुनाव हुआ था।उन्होंने कहा, ‘हमारा पहले का अनुभव रहा है कि वीपी सिंह चुनावों के बाद प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बनकर उभरे। साल 1996 में लोकसभा चुनावों के बाद एकीकृत मोर्चा का गठन हुआ और एच डी देवगौड़ा प्रधानमंत्री बने. इसी तरह, 2004 चुनावों के नतीजों के बाद यूपीए की ओर से मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री चुना गया। उन्होंने आगे कहा कि हमें सर्वसम्मति से फैसला करना है, कि किसे पीएम बनना चाहिए।बहराल, जब से कांग्रेस और जेडीएस का कर्नाटक में गठबंधन हुआ है, लगातार दोनों खेमों के बीज किसी न किसी बात को लेकर अनमन दिखाई दे रही है। अब ये गौरतलब होगा कि दोनों पार्टियों के बीच कब तक सबकुछ ठीक रहता है।

Tags :

NEXT STORY
Top