पूरे विधि-विधान के साथ शशिकला ने जयललिता का किया अंतिम संस्कार

चेन्नई (6 दिसंबर): हरवक्त जयललिता के साथ साये की तरह रहने वाली शशिकला ने पूरे विधि-विधान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया। जयललिता का आज शाम चेन्नई के मरीना बीच पर MGR मेमोरियल के पास अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें हिंदू रीति रिवाज के हिसाब से जलाया नहीं जलाया गया,बल्कि दफनाया गया। 

शशिकला ने जयललिता के अंतिम संस्कार के सारे रिचुअल किए। शशिकला को जयललिता का पक्का दोस्त माना जाता है। दोनों की दोस्ती इतनी पक्की थी कि 1988 से शशिकला जयललिता के घर पर साथ ही रहती थी। शशिकला के साथ उनका परिवार भी जया के घर पर ही शिफ्ट हो गया। इसके बाद शशिकला ही तय करतीं थीं कि कौन जया से मिलेगा। पार्टी से जुड़े बड़े फैसलों में शशिकला की भूमिका होती थी। इतना ही नहीं कई लोगों को पार्टी से निकालना और नियुक्त करना भी शशिकला का काम था।   जया और शशिकला की दोस्ती में पहली बार साल 1996 में दरार आई थी, जब AIADMK को चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा था। जयललिता ने इसके लिए शशिकला के परिवारवालों की बिगड़ी छवि को जिम्मेदार बताया था। उसके बाद साल 2012 में जया ने शशिकला को पार्टी से बाहर कर दिया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शशिकला के परिवारवाले उन्हें तमिलनाडु की सीएम बनाने की योजना बना रहे थे। नाराज जया ने शशिकला के परिवारवालों को अपने घर से बाहर तक कर दिया था। हालांकि बाद में शशिकला ने माफी मांगी और उन्हें पार्टी में दोबारा जगह मिली।