2 साल पहले जेल जाने के बाद से ही बीमार रहने लगी थीं जयललिता

नई दिल्ली ( 7 दिसंबर ): जयललिता के स्वास्थ्य को लेकर नई जानकारी सामने आई है। आय से अधिक संपत्ति मामले में सितंबर, 2014 में जेल जाने के बाद से ही उनकी तबियत खराब रहने लगी थी। इसके बाद वे ज्यादातर पब्लिक फंक्शंस से दूर रहती थीं। काफी दिनों तक उन्होंने अपनी गिरती सेहत का अहसास किसी को नहीं होने दिया। एक पूर्व मंत्री का कहना है कि जेल से निकलने के बाद अम्मा बदल गई थीं। फिर उन्हें किसी चीज से खुशी नहीं मिली। अपोलो में भर्ती होने से महज दो दिन पहले 20 सितंबर को वो एक प्रोग्राम में नजर आईं, लेकिन व्हील चेयर पर।

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री अपने व्यक्तिगत मामलों को लेकर बहुत ज्यादा सतर्क रहती थीं। इसी का नतीजा है कि उनके स्वास्थ्य के बारे में कभी चर्चा नहीं हुई। दोषी ठहराए जाने के बाद जयललिता को कर्नाटक के जेल में रखा गया था। उसके बाद से ही उनकी तबियत लगातार खराब होती गई। बताया जाता है कि शुरुआत में उन्होंने डॉक्टरों से मिलने और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी साझा करने से इन्कार कर दिया था। लेकिन, विश्वस्त सहयोगियों और पार्टी के बेहद करीबी वरिष्ठ नेताओं के लगातार आग्रह पर उन्होंने डॉक्टर से सलाह लेने की बात मानी थी।

जेल से लौटने के बाद विपक्षी दलों ने उनके कामकाज करने के तरीकों को लेकर सवाल भी उठाने शुरू कर दिए थे। इस साल मई में चुनाव जीतने के बावजूद जयललिता ने खुद को बड़ी जिम्मेदारियों से दूर रखा था। उनकी पूर्व मुख्य सचिव शीला बालकृष्णन के अलावा अन्य विश्वस्त सहयोगी ही सरकार के कामकाज की जिम्मेदारी संभालते रहे। 

जयललिता आखिरी बार सार्वजनिक तौर पर 20 सितंबर को नजर आई थीं। केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू चेन्नई एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन की नई लाइन का उद्घाटन करने आए थे। उस वक्त जया ने अपने कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी। इसके दो दिन बाद 22 सितंबर को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।