जेएनयू में अफजल गुरु पर कार्यक्रम को लेकर मचा वबाल

नई दिल्‍ली (10 फरवरी): देश की नामचीन जवाहर लाल यूनिवर्सिटी में बीती शाम देशद्रोही और संसद के हमले के दोषी अफजल गुरु और जेकेएलएफ के मकबूल बट के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। पूरे जेएनयू कैंपस में पोस्टर लगाए गए। हालांकि एबीवीपी के विरोध के बाद कार्यक्रम रद्द कर दिया गया, लेकिन एबीवीपी का आरोप है कि कार्यक्रम रद्द होने के बावजूद जेएनयू के छात्रों ने आतंकी अफजल गुरु और मकबूल बट को शहीद बताया। वहीं टकराव को देखते हुए पुलिस ने जेएनयू में अपनी गश्त बढ़ा दी है।

पूरे जेएनयू में पोस्टर लगाकर आतंकियों का महिमामंडन किया गया। ये कार्यक्रम उस आतंकी अफजल गुरु के लिए था जो संसद हमले का दोषी था। उस आतंकी अफजल गुरु के लिए जिसे दोष सिद्ध होने पर फांसी भी दी जा चुकी है। अफजल गुरु के अलावा देश के देशद्रोही जम्मू-कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के को फाउंडल मकबूल भट की भी इस कार्यक्रम में खूब याद किया गया।

जैसे ही इस बाबत जानकारी मिली बवाल मच गया, कार्यक्रम के खिलाफ जेएनयू में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों ने हंगामा करना शुरु कर दिया। आनन-फानन में यूनिवर्सिटी प्रशासन को इस कार्यक्रम की इजाजत रद्द करनी पड़ी। कार्यक्रम नहीं हुआ लेकिन एबीवीपी का आरोप है कि जेएनयू में गुपचुप तरीके से ये कार्यक्रम हुआ और कैंपस के गंगा ढाबे तक अफजल गुरु और मकबूल बट के लिए मार्च निकाला गया।