राजस्थान में हिस्ट्री की बुक में नेहरू का नाम नहीं

नई दिल्ली(8 मई): राजस्थान के 8th क्लास की सोशल साइंस की बुक में जवाहर लाल नेहरू का जिक्र नहीं है। वसुंधरा राजे सरकार के निर्देशों के बाद पहली से आठवीं तक लगभग सभी विषयों में बड़े बदलाव के साथ किताबें छपी है। ये किताबें इसी सप्ताह से बच्चों के हाथ में पहुंच जाएंगी।

हालांकि ये बुक मार्केट में अवेलेबल नहीं है लेकिन राजस्थान राज्य पाठ्यपुस्तक मंडल की वेबसाइट पर देखी जा सकती है। वहीं राज्य के स्कूल एजुकेशन मिनिस्टर वासुदेव देवनानी ने कहा है कि सरकार की इसमें कोई भूमिका नहीं है। एक ऑटोनॉमस बॉडी सिलेबस तैयार करती है।

इन किताबों में आजादी के महानायकों के नामों का उल्लेख है।  असहयोग आंदोलन, सविनय अवज्ञा, दांडी, सत्याग्रह, भारत छोड़ो आंदोलन में महात्मा गांधी का भी उल्लेख है। देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद का सचित्र वर्णन है लेकिन प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का कहीं भी जिक्र नहीं किया गया है। 

चंद्रशेखर आजाद, सुखदेव, राजगुरु, पंडित रामप्रसाद बिस्मिल, चापेकर बंधु, वीर सावरकर, नेताजी सुभाषचंद्र बोस के योगदान का विशेष उल्लेख किया गया है।पाठ्यक्रम में बदलाव के बाद अब स्कूली बच्चे अकबर नहीं बल्कि महाराणा प्रताप को महान पढ़ेंगे।