मीटिंग के दौरान रो पड़े सीएम मनोहर लाल खट्टर

चंडीगढ़ (1 मार्च): जाट आंदोलन पर चर्चा के लिए दिल्ली के हरियाणा भवन में बीजेपी विधायक दल मीटिंग हुई। सूत्रों के मुताबिक सीएम मनोहर लाल खट्टर जाट आंदोलन की हिंसा को 1947 के दंगों से भी ज्यादा भयावह बताकर फूट-फूट कर रो पड़े।

सीएम ने कहा कि हम अपनी जिम्मेदारी से नहीं बच सकते, दोषियों को उनके किए की सजा मिलेगी। बैठक में गैर-जाट विधायकों ने आरोप लगाया कि सीएम को कमजोर साबित कर सत्ता पलटने की साजिश रची गई थी। अपने ही समुदाय की बात कहकर सीएम को हिंसा की सही जानकारी नहीं दी गई। आरोप ये भी लगे कि जाट मिनिस्टर्स ने अफसरों को कार्रवाई के लिए रोका।

बैठक में विधायकों ने न सिर्फ कांग्रेस पर हिंसा फैलाने की साजिश का आरोप लगाया बल्कि सीबीआई जांच की भी मांग की। मीटिंग में विधायकों ने कहा कि पूरे मामले की CBI या फिर सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस से जांच कराई जाए। जाट आंदोलन के दौरान लोगों को भड़काने के आरोपी कांग्रेस नेता प्रोफेसर वीरेंद्र के नाम कोर्ट ने अरेस्ट वारंट जारी किया है।