जश्न-ए-यंगिस्तान: अनंत गोयनका को यंग मीडिया ऑइकन के अवॉर्ड से किया गया सम्मानित

न्यूज 24 ब्यूरो,नई दिल्ली (24 नवंबर): युवा देश का भविष्य होता है। नई और युवा सोच ही देश को आगे लेकर जाती है, आज का युवा ही यंग इंडिया का आधार रख रहा है। ये यंग इंडिया ही है जो विश्व में अपना प्रभाव छोड़ रहा है। और इसी यंग इंडिया की कामयाबी का जश्न मनाने के लिए इस साल भी देश का प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनल 'न्यूज़ 24' अपने खास सम्मान समारोह 'जश्न-ए-यंगिस्तान' का आयोजन कर रहा है। 

कार्यक्रम की शुरूआत उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू ने दीप प्रज्वलित करके की। 'जश्न-ए-यंगिस्तान' में सिनेमा से लेकर क्रिकेट तक और बिजनेस से लेकर सामाजिक क्षेत्र तक में अपना प्रभाव छोड़ने वाली युवा शक्तियों का सम्मान किया जा रहा है। इसी कड़ी में अनंत गोयनका को यंग मीडिया ऑइकन के अवॉर्ड से किया गया सम्मानित किया गया। 

दुनिया का हर बड़ा मीडिया हाउस ये जान चुका है कि पत्रकारिता का भविष्य डिजिटल वर्ल्ड ही है। एक्सप्रेस समूह ने इस बात को समझा। अनंत गोयनका इंडियन एक्सप्रेस समूह के कार्यकारी संपादक हैं और वह डिजिटल मीडिया में रामनाथ गोयनका की विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं। खासकर हिन्दी पत्रकारिता को बढ़ावा देने में अनंत का योगदान अनदेखा ही जा रहा है।
साल 2015 में अनंत गोयनका को लगा होगा कि भले ही जनसत्ता अखबार मृतप्राय बनाया जा चुका है, डिजिटल संसार में जनसत्ता को नए सिरे से जिंदा किया जाए। उन्होंने एक काबिल संपादक चुना जो उनके विजन को समझ सके। अनंत गोयनका अपने मकसद में कितने कामयाब रहे इसे आप इसी से समझ सकते हैं कि करीब दो साल में ही अक्टूबर 2017 में जनसत्ता डॉट कॉम देश भर में डेस्कटॉप पर पढ़ा जाने वाला नंबर वन हिन्दी समाचार वेबसाइट बन गया।

इस समारोह में फिल्मी जगत से जुड़े best actor, best Actress, best comedian, Rising star of the year, popular singer जैसे अवार्ड दिए जाएंगे। वहीं खेल की दुनिया में Sportsperson of the year और क्रिकेट के लिए खास कैटेगरी में सम्मान दिए जाएंगे। इस समारोह में राजनीति, बिज़नेस, कला, साहित्य, मीडिया और सामजिक क्षेत्र में योगदान के लिए अलग-अलग कैटेगरी में युवा हस्तियों को सम्मानित किया जाएगा।'जश्न-ए-यंगिस्तान'की सबसे बड़ी खासियत रहेगी उन शहीदों का सम्मान जिन्होने देश के लिए बलिदान दिया है, इसके लिए खास तौर से "मातृभूमि सम्मान" दिया जाएगा। वहीं देश की हिफाज़त में अदम्य साहस का परिचय देने वाले सुरक्षा बलों के वीरों को भी सम्मानित किया जाएगा, जिनमें जांबाज़ महिला सुरक्षाकर्मी भी शामिल रहेंगीं।