26 साल में पहली बार किसी आर्मी बेस पर बड़ा हमला

नई दिल्ली(18 सितंबर): जम्मू-कश्मीर में आर्मी ब्रिगेड हेडक्वार्टर पर रविवार सुबह आतंकियों ने हमला किया। लाइन ऑफ कंट्रोल के नजदीक उरी सेक्टर में मौजूद आर्मी हेडक्वार्टर में आतंकी घुसे। कुछ बैरक में आग लगा दी। आर्मी के नॉर्दन कमांड के मुताबिक,17 जवान शहीद हो गए। सिक्युरिटी फोर्सेज ने तुरंत एक्शन लेते हुए हालात संभालने के लिए पैराकमांडो की टीम को मौके पर एयरड्रॉप किया। 

- ऑपरेशन में 4 आतंकी मारे गए। 

- राजनाथ सिंह ने विदेश दौरा टाल दिया है। इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। 

- रक्षा मंत्री, आर्मी चीफ कश्मीर दौरे पर जा रहे हैं। बता दें कि दो साल पहले भी कश्मीर के इसी इलाके में आतंकियों ने आर्मी की बिल्डिंग पर हमला किया था। तब 10 जवान शहीद हुए थे। 

कश्मीर में 26 साल में पहली बार किसी आर्मी बेस पर इतना बड़ा हमला

- जम्मू कश्मीर में 1990 से अशांति है। 26 साल में किसी आर्मी बेस पर पहली बार इतना बड़ा आतंकी हमला हुआ है।

- जिस आर्मी कैम्प पर हमला हुआ है, वह एलओसी से सटा है। यह 12 अार्मी यूनिट का बेस है। 

- इससे पहले दिसंबर 2014 में उरी सेक्टर में ही झेलम नदी के रास्ते 6 फिदायीन घुसे थे। उन्होंने मोदी के कश्मीर दौरे से 4 दिन पहले इसी कैम्प सहित चार ठिकानों पर हमला किया था। आर्मी के 8 अौर पुलिस के 3 जवान शहीद हुए थे।

- बीते हफ्ते पुंछ में मिनी सेक्रेट्रिएट की एक बिल्डिंग में आतंकी जा छिपे थे। 3 दिन एनकाउंटर चला था।