सुरक्षाबलों काे मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर का एक आतंकी ढेर

force

Image Source Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली(11 सितंबर): जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। यहां सोपोर में आतंक का पर्याय बन चुके लश्कर-ए-तैयबा के खूंखार आतंकी आसिफ को सुरक्षाबलों ने एक मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। हालांकि इस दौरान उसने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंका, जिसमें पुलिस के दो जवान घायल हो गए। डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि पिछले एक महीने से आसिफ ने घाटी में आतंक का माहौल बना रखा था। डीजीपी ने बताया कि उसके दो सहयोगियों के बारे में भी जानकारी मिली है, जिनकी तलाश की जा रही है।

बता दें कि सोपोर इलाके से ही हाल ही में एजेंसियों ने लश्कर के 8 आतंकियों को गिरफ्तार किया है, जो पाकिस्तान की शह पर यहां लोगों को धमका रहे थे। पिछले दिनों यहां आतंकियों ने फल व्यापारियों के परिवार पर गोलीबारी की थी, जिसमें एक मासूम बच्ची आसमां जान समेत 4 लोग घायल हुए थे। बताया जा रहा है कि इस गोलीबारी के पीछे भी मारे गए खूंखार आतंकी आसिफ का ही हाथ था।

डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा, 'लश्कर के आसिफ ने सोपोर में काफी आतंक का माहौल फैला रखा था। पिछले एक महीने से वह काफी ऐक्टिव था, उसने ग्राउंड वर्कर तैनात कर रखे थे और नागरिकों को पोस्टर आदि लगाकर धमकाता रहता था। इस आतंकी के खात्मे से आतंकियों को जबाव मिला है।

जम्मू के सभी जिलों में स्थिति सामान्य

इस दौरान दिलबाग सिंह ने यह भी कहा कि जम्मू के सभी 10 जिलों में स्थिति सामान्य है। सभी स्कूल, कॉलेज और कार्यालय खुल गए हैं। लेह और करगिल में भी स्थिति सामान्य है। किसी भी तरह की यहां कोई पाबंदी नहीं है। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर प्रोपगैंडा न फैले इसलिए सख्ती से यहां कुछ धाराएं लगाई गई थीं लेकिन हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं और हम सख्ती को कम कर रहे हैं।

लश्कर के निर्देश पर घाटी में काम कर रहे थे आतंंकी

मंगलवार को पकड़े गए आतंकियों के बारे में कई अहम खुलासे करते हुए जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया था कि ये सभी आतंकी सोपोर में लश्कर के तीन आतंकियों के निर्देश पर काम कर रहे थे। इन सभी आतंकियों ने बीते दिनों कश्मीर के कई हिस्सों में दुकानदारों को अपनी दुकान ना खोलने की धमकी दी थी।

घाटी को अशांत करने की कोशिश

डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा था कि पाकिस्तान द्वारा समर्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिज्बुल मुजाहिदीन कश्मीर घाटी में लोगों को बंद का समर्थन करने के लिए धमका रहे हैं। आतंकी संगठनों ने लोगों को बाजार ना खोलने और दैनिक कामकाज ना करने की धमकी दी है, लेकिन पुलिस इस बात को सुनिश्चित कर रही है कि जो भी लोग अपना काम करना चाहते हों उन्हें किसी भी तरह की परेशानी ना होने पाए।