गोलियां किसी को नहीं पहचानतीं, घर में रहें-J&K के डीजीपी की कश्मीरी युवकों को सलाह


नई दिल्ली( 30 मार्च): जम्मू कश्मीर के डीजीपी एसपी वेद ने युवाओं को घर से बाहर न निकलने की नसीहत दी है। डीजीपी ने कहा कि तमाम कोशिशों के बाद भी हम मुठभेड़ में मारे जाने वाले नागरिकों की संख्या रोकने में नाकाम साबित हो रहे हैं।


- डीजीपी एसपी वेद ने कहा, युवा नागरिकों को उकसाया जा रहा है और उन्हें सेना पर पत्थर मारने को कहा जा रहा है। युवाओं को पथभ्रमित किया जा रहा है और उन्हें मुठभेड़ की जगहों पर जाने के लिए उकसाया जा रहा है।


- जम्मू-कश्मीर डीजीपी ने कहा कि बंदूक से निकली गोली यह नहीं देखती कि वह किसे लगेगी। नौजवानों को घर पर रहना चाहिए और एनकाउंटर वाले इलाकों में नहीं आना चाहिए, यह मेरा निवेदन है। उन्होंने कहा कि जो नौजवान एनकाउंटर साइट पर आ रहे हैं वे जानबूझ कर आत्महत्या करने जा रहे हैं।


- गौरतलब हो कि बडगाम के चदूरा इलाके में 2 आतंकियों के छिपे होने की खबर मिलने के बाद तलाशी अभियान शुरू हुआ, लेकिन दिनभर स्थानीय लोग सुरक्षाबलों पर पत्थर बरसाते रहे।