जम्मू-कश्मीर: 9 साल के बच्चे ने 'काउंटिंग पेन' का किया आविष्कार

नई दिल्ली ( 16 अप्रैल ): देश में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है, ऐसी ही एक प्रतिभा जम्मू-कश्मीर में देखने को मिली है। जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा के 9 वर्षीय मुजफ्फर अहमद खान ने एक काउंटिंग पेन का आविष्कार कर किया। बांदीपुरा के गुरेज के रहने वाले इस नौनिहाल ने एक ऐसे पेन का आविष्कार किया है, जो लिखने के साथ-साथ शब्दों को भी गिनता है। 

हाल ही में राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान (एनआईएफ) द्वारा राष्ट्रपति भवन में आयोजित नवाचार और उद्यमिता महोत्सव (फेस्टिवल ऑफ इनोवेशन एंड इंटरप्रेन्योरशिप) में इसका प्रदर्शन भी किया गया। 

मुजफ्फर अहमद ने बताया कि इस पेन में एक एलसीडी डिसप्ले लगा हुआ है। जैसे ही कोई इस पेन से लिखना शुरू करता है तो लिखे गए शब्दों की संख्या मॉनिटर पर अंकित होने लगता है। मुजफ्फर के मुताबिक इस पेन को मोबाइल फोन से भी कनेक्ट किया जा सकता है। मैसेज के जरिए मोबाइल पर भी शब्दों की संख्या देख सकते हैं। 

फेस्टिवल ऑफ इनोवेशन एंड इंटरप्रेन्योरशिप का आयोजन भारत के राष्ट्रपति के ऑफिस द्वारा किया जाता है। इसका मकसद जमीनी स्तर पर होने वाले आविष्कार को बढ़ावा देना है. मार्च के महीने में इसका आयोजन राष्ट्रपति भवन में किया जाता है, जिसमें देश के कोने-कोने से लोग शामिल होने आते हैं। इस वर्ष भी 19 से 23 मार्च तक इसका आयोजन किया गया, जिसमें मुजफ्फर अहमद ने भी अपने आविष्कार का प्रदर्शन किया।

मुजफ्फर अहमद के इस आविष्कार को देखकर राष्ट्रपति भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में मौजूद लोग भी आश्चर्यचकित रह गए। वहीं परिवार के लोग भी अपने नौनिहाल पर गर्व महसूस कर रहे हैं।