यूनिवर्सिटी शाहरुख़ को देना चाहती थी डॉक्टरेट की उपाधि, सरकार ने रोका

Photo: Google


न्यूज 24 ब्यूरो नई दिल्ली (22 फरवरी):  बॉलीवुड के सुपरस्टार शाहरुख खान को जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय डॉक्टरेट की मानद उपाधी देना चाहती थी, लेकिन ऐसा हो ना सका। मानव संसाधन विकाश मंत्रालय  ने शाहरुख खान को डिग्री देने के अनुरुध को खारिज कर दिया। शिक्षा मंत्रालय की ओर से यह कहा गया कि शाहरुख खान पहले ही किसी दूसरे यूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट का सम्मान लिए हुए हैं।  ऐसे में दोबारा डिग्री देने का कोई औचित्य नहीं है। ये खुलासा एक सूचना के अधिकार (RTI) के तहत मांगी गई जानकारी से हुआ है। एक्टर शाहरुख खान के साथ यूनिवर्सिटी को भी मानव संसाधान मंत्रालय की ओर से बड़ा झटका माना जा रहा है।






शाहरुख खान दिल्ली से ही हैं, वे जामिया मिलिया इस्लामिया में मास कम्यूनिकेशन सेंटर के छात्र रहे हैं। हालांकि कम अटेंडेंस के चलते वे फाइनल एयर का परीक्षा नहीं दे पाए थे। यह भी जानकारी मिली है कि जामिया में मॉस कम्यूनिकेश के छात्र रहे शाहरुख खान खुद भी यह सम्मान लेने के लिए राजी हो गए थे और इसकी मंजूरी भी यूनिवर्सिटी को दे दी थी। वहीं, पूरी प्रक्रिया के तहत जब इस बारे में यूनिवर्सिटी ने मानव संसाधान विकास (HRD) मंत्रालय को मंजूरी के लिए खत लिखा तो प्रस्ताव को ठुकरा दिया गया। सूचना के अधिकार के तहत इस संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब यूनिवर्सिटी ने बताया कि HRD मिनिस्ट्री ने  इनकार कर दिया, क्योंकि शाहरुख खान 2016 में मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी (MANNU) से डिग्री ले चुके हैं।