जल्लीकट्टू पर बैन हटाने की मांग को लेकर यहां जमा हुए सैंकड़ों लोग


नई दिल्ली(19 जनवरी): तमिलनाडु में बैलों पर काबू पाने के पारंपरिक खेल जल्लीकट्टू पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाए गए प्रतिबंध को हटाने के लिए लगातार चौथे दिन हजारों लोग सड़कों पर हैं। हजारों छात्र रात भर चेन्नई के मरीना बीच पर जमे रहे।


 इन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी मुहिम को आगे बढ़ाते हुए फेसबुक पर प्रदर्शन को लाइव भी किया। चेन्नई के मरीना बीच पर आज सुबह से ही 10 हजार से ज्यादा छात्र इस प्रदर्शन में शामिल होने के लिए पहुंच गए। दिन बढ़ने के साथ-साथ इनकी संख्या भी बढ़ती जा रही है। लोग जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध हटाने के साथ ही पशु अधिकार संगठन 'पेटा' पर बैन लगाने की भी मांग कर रहे हैं।


मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम की अपील पर भी लोगों ने प्रदर्शन खत्म नहीं किया। आज वह इस मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिले और उनसे अध्यादेश लाने की मांग की। इस मुलाकात के बाद पन्नीरसेल्वम ने कहा कि हमने पीएम को पत्र सौंपा जिसमें जल्लीकट्टू पर बैन हटाने और केंद्र से इस पर अध्यादेश लाने की मांग की गई है। पीएम मोदी ने कहा कि वह राज्य की सांस्कृतिक मान्यताओं को महत्वपूर्ण मानते हैं। उन्होंने हमें पूरा समर्थन देने की बात कही है।