पाक ने सार्क में टांग अड़ायी तो बिम्सटेक है न !

नई दिल्ली (21 नवंबर):  सार्क में हर संभावित क्षेत्रीय पहल को बाधित करने के पाकिस्तान के भारी नुकसान पहुंचाने वाले रवैये को आड़े हाथों लेते हुए भारत ने सोमवार को कहा कि वह क्षेत्र के अन्य देशों पर बिम्सटेकजैसे अन्य विकल्पों को आजमाने का दबाव बनाएगा।

सार्क के प्रति इस्लामाबाद के रवैये की कड़ी आलोचना करते हुए विदेश सचिव एस जयशंकर ने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर कहा कि क्षेत्रीय सहयोग के कुछ मूलभूत मानकों का पालन किया जाना चाहिए और ज्यादातर सदस्य देश चाहते हैं कि क्षेत्रीय पहलों को आगे बढ़ाया जाए। चीन-पाकिस्तान संबंधों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि इस संबंध के चलते कुछ ऐसे मुद्दे सामने आ रहे हैं जो भारत के लिए चिंता खड़ी कर रहे हैं, इसमें आर्थिक गलियारे का मुद्दा भी शामिल है जिसका निर्माण चीन, पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के रास्ते कर रहा है।

भारत और महान ताकतें: निरंतरता और बदलाव’ विषय पर संबोधन देते वक्त विदेश सचिव ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच के मसलों को हल करने के लिए किसी तीसरे देश के दखल की जरूरत नहीं है और इससे भ्रम और अपेक्षाएं बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि अपांयर होने की स्थिति में खेल अपना प्राकृतिक संतुलन खो देता है