मसूद अजहर ने पाक से मांगी भारत पर हमले की इजाजत

नई दिल्ली(13 अक्टूबर): जैश-ए-मोहम्मद चीफ मसूद अजहर एक बार फिर भारत के खिलाफ आग उगला है। इस बार उसने खुलेआम पाकिस्तानी सरकार से मांग की है कि जैश के 'मुजाहिदीनों' को भारत पर हमले की अनुमति दी जाए। 

- जैश की साप्ताहिक मैगजीन अल-कलाम में मसूद अजहर की अपील प्रकाशित की गई है।

- अपनी इस अपील में आतंकी सरगना मसूद सीधे तौर पर पाकिस्तानी सरकार को संबोधित करता दिखाई दे रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक मसूद ने पाक सरकार से कहा है कि वह इस बार साहस दिखाए और जैश को भारत में जिहादी कार्रवाई करने की अनुमति दे। मसूद ने कहा कि अगर ऐसा हुआ तो हालिया सिंधु जल समझौते के विवाद और कश्मीर समस्या सुलझ जाएगी।

- मसूद ने पाकिस्तानी सरकार को चेताया भी है कि उसकी हिचकिचाहट की वजह से देश (पाक) कश्मीर पर कब्जा करने का ऐतिहासिक मौका गंवा बैठेगा। 

- अपील में मसूद ने लिखा, 'अगर पाकिस्तान की सरकार थोड़ा सा साहस दिखाए तो कश्मीर समस्या के साथ-साथ पानी से जुड़े विवाद भी एक बार में ही खत्म हो जाएंगे। अगर ऐसा नहीं हो सकता, तो सरकार केवल मुजाहिदीनों के लिए रास्ता खोल दे।'

- अजहर ने अपनी अपील में पाकिस्तान सरकार के उस दावे की भी पोल खोल दी है कि पाक आतंकियों को समर्थन नहीं देता। मसूद अजहर ने अपनी अपील में कहा है कि पाकिस्तानी सरकार ने 1990 के दशक में जब जिहादी नीतियों को समर्थन दिया, तो उसे रणनीतिक फायदे भी मिले थे। मसूद ने सरकार को कहा है कि सार्क जैसे मंच पर भारत को मौका देने की बजाय पाक को खुद सीज फायर तोड़ देना चाहिए।

- जैश चीफ मसूद ने कश्मीर को पाकिस्तान की दुखती नब्ज बताया है। जैश ने पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली थी। पाकिस्तान सरकार ने उस दौरान भारत से वादा किया था कि जैश के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। जबकि इस तरह की रिपोर्ट्स से साफ है कि जैश पाकिस्तान में खुलेआम अपना काम कर रहा है।