सुंजवान हमला: फिर बेनकाब हुआ पाकिस्तान का झूठ, मसूद अजहर का सामने आया ऑडियो

नई दिल्ली ( 16 फरवरी ): पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। अपनी हरकतों पर पर्दा डालने के लिए हमेशा झूठ बोलता है, लेकिन एक बार फिर उसकी पोल खोल गई है। जम्मू के सुंजवान में आर्मी कैंप पर हमले के पीछे पाकिस्तान की जमीन संचालित होने वाले आतंकी संगठनों का हाथ है, लेकिन पाकिस्तान ने इससे इंकार किया है। हालांकि पाक एक बार फिर बेनकाब हुआ है। जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर ने खुद स्वीकार किया है कि उसी ने सुंजवान हमले की स्क्रिप्ट लिखी है।

एक ऑडियो टेप में मसूद अजहर सुंजवान हमले को अंजाम दिलाने की शेखी बघार रहा है। सेन्ट्रल और वेस्टर्न आर्मी कमांड्स की इंटेलिजेंस एजेंसियों के हाथ लगे ऑडियो क्लिप में अजहर दावा कर रहा है कि उसने भारतीय एजेंसियों को जम्मू में सबक सिखाया है। मसूद अजहर वही आतंकवादी है जिसे 1999 में इंडियन एयरलाइंस के विमान अपहरण के बाद 2 अन्य आतंकियों के साथ छोड़ा गया था। 

यह ऑडियो ऐसे वक्त में सामने आया है जब एक हफ्ते पहले ही जैश-ए-मोहम्मद के 3 खुदकुश हमलावरों ने जम्मू में आर्मी की 36 ब्रिगेड पर हमला किया था। इसमें सेना के 6 जवानों और एक सिविलियन की मौत हुई थी। ऑडियो में अजहर अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सुनाई देता है, 'इंडिया वाले परेशान हैं कि मुजाहिदीन कश्मीर से जम्मू शहर तक कैसे पहुंच गए। सुंजवान बॉर्डर पर नहीं बल्कि जम्मू में है।' 

ऑडियो में आगे वह यह खुलासा करते हुए सुना जा रहा है कि कैसे वह दूसरे आतंकी संगठनों के साथ मिलकर करीब-करीब एक ही वक्त पर अलग-अलग जगहों पर हमले की योजना पर काम कर रहा है। वह कहता है, 'अभी जम्मू का मामला थमा नहीं था कि मुजाहिदीन ने कश्मीर में श्रीनगर को भी जला दिया।' 

अजहर आगे कहता है, 'उन्होंने कश्मीर को किले में तब्दील करने के लिए जम्मू में बड़े पैमाने पर सुरक्षा बलों को तैनात किया है, लेकिन अब हमने उस किलेबंदी को तोड़ दिया है।' जैश सरगना ऑडियो में भारतीय एजेंसियों का मजाक भी उड़ा रहा है कि कैसे वे जम्मू के आर्मी कैंप में आतंकियों की सही संख्या का भी ठीक-ठीक अंदाजा नहीं लगा पाए। 

भारतीय खुफिया एजेंसियां पहले ही कह चुकी हैं कि पहली बार ऐसा हुआ है कि लश्कर-ए-तैयाब और जैश-ए-मोहम्मद ने साथ मिलकर जम्मू और श्रीनगर में जुड़वा हमलों को अंजाम दिया।