खुद को सेना का अधिकारी बताकर मांग रहा था एयरबेस की जानकारी

केजे श्रीवत्सन, जैसलमेर (6 फरवरी): राजस्थान के जैसलमेर में सुरक्षा एजेंसिया एक मिस्ट्री मैन की तलाश कर रही हैं, उस मिस्ट्री मैन ने जैसलमेर की कई तस्वीरें भी अपने कैमरे में कैद की हैं। वो खुद को सेना कैप्टन बता रहा था और हजार रुपये की चीज़ के 1500 दे रहा था। कह रहा था कि उसके लिए पैसों की कोई कीमत नहीं है और फिर अचानक वो गायब हो गया। लेकिन गायब होने से पहले जैसलमेर के उस मिस्ट्री मैन ने अपना एक निशान छोड़ दिया है। अब सुरक्षा एजेंसियों उसी निशान पर आगे बढ़ते हुए उस मिस्ट्री मैन के गिरेबान तक पहुंचने में लगी हैं।

मामला राजस्थान के जैसलमेर का है और सुरक्षा एजेंसियों को जैसे ही इस मिस्ट्री मैन की जानकारी मिली, तभी से सुरक्षा एजेंसियां उसको तलाश करने में लगी हैं। इस बात का खुलासा हुआ है वीडियो के सामने आने के बाद हुआ। ये वीडियो जैसलमेर के आसनी रोड के एक ज्वैलर्स शोरूम की हैं, जहां गुरुवार की रात 6 फीट का एक युवक आया। उसने दुकानदार से जैसलमेर एयरफोर्स स्टेशन के बारे में पूछताछ की। उस युवक ने वहां से एक फ्रेम खरीदा। फ्रेम की कीमत 1000 रुपये होने के बावजूद उसने दुकानदार को 1500 रुपये जबरदस्ती दे दिए। उसने दुकानदार को बताया कि उसके लिए पैसों की कोई कीमत नहीं है।

ज्वैलर्स शॉप के मालिक के मुताबिक इस मिस्ट्री मैन ने खुद को सेना का कैप्टन बताते हुए कहा था कि वो पठानकोट के पास पाकिस्तान की सीमा के पास रहता है। पठानकोट में हुए हमले की उसे सारी जानकारी है। इस दौरान उसका फोन चालू था, जैसे कि वो किसी और को भी ये बातचीत सुना रहा था। इसके बाद आगे फिर आने की बात कहकर चला गया। संदिग्ध के जाने के तुंरत बाद दुकानदार ने इसकी सूचना एयरफोर्स स्टेशन के अधिकारियों को दे दी। कुछ देर में एयरफोर्स के अधिकारी, जैसलमेर पुलिस और सीआईडी की टीम वहां पहुंच गई। दुकान की सीसीटीवी फुटेज को भी अपने कब्जे ले लिया है।

साथ ही इस मिस्ट्री मैन की तलाश में सर्च अभियान भी चलाया जा रहा है। पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों ने सोशल मीडिय पर इस मिस्ट्री मैन की फोटो भी जारी की है और लोगों से अपील की है कि अगर किसी के पास भी इस संदिग्ध शख्स की जानकारी हो तो वो तुरंत पुलिस को बताए।