जयपुर में बना रिकॉर्ड, 1 लाख लोगों ने गाया वंदे मातरम

श्रीवत्सन, जयपुर (21 सितंबर): कोई आतंकी हमला हमारी अखंडता को हिला नहीं सकता। हम सब एक है और भारत मां सरहद पर अपनी जान देने वाले बहादुर सपूतों को अपनी सर जमींन पर रोज पैदा करेगी और ये हौसला ऐसे ही बढ़ता रहेगा। राजस्थान की राजधानी से वंदेमातरम की गूंज ऐसी फैली कि पुरे देश में सिर्फ वंदेमातरम सुनाई दिया, मानों उरी में शहीद हुए सेना के जवानों को पूरा देश सलामी दे रहा हो। मौका था 500 से ज्यादा संगीतकारों ने हजारों लोगों के साथ सामूहिक वन्देमातरम गान का, जिसकी गवाह बनी खुद  राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे।

भले ही सामूहिक वंदेमातरम गान का आयोजन जयपुर में हुआ हो, लेकिन इसकी गूंज पुरे देश में सुनाई दे रही थीं। जयपुर के अमरूदों के बाग में वॉइस ऑफ यूनिटी कार्यक्रम में हिंदू आध्यात्मिक एवं सेवा फाउंडेशन ने दूसरी बार जयपुर में संगीत निर्देशन पंडित आलोक भट्ट ने किया। इसमें संगीतकार और स्टूडेंट्स ने सामूहिक वंदेमातरम का वंदन किया। ख़ास बात यह रही थी कि इसमें करीब 18 वाद्यों को भी एक साथ बजाया गया है।

देशभक्ति का माहौल कुछ ऐसा था कि कार्यक्रम की मुख्य अतिथि राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे भी झूमती हुई दिखाई दी और मंच से उन्होंने भारतीय ध्वज को लहराया। वंदेमातरम की स्वरलहरियों का असर ऐसा था कि विदेशी मेहमानों की जुबानों से भी वंदेमातरम सुनने को मिला, इस मौके पर उरी में शहीद हुए सेना के जवानों के लिए दो मिनट का मौन भी रखा गया।

इस कार्यक्रम में देशभर से संगीतकार, गायक व अन्य वाद्यों के 500 संगीतकारों का सहयोग लिया गया, जिन्होंने की विभिन्न वाध्य यंत्रों के जरिये वन्देमतरम पर सुर-ताल मिलाया। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कार्यक्रम की सराहना की तो वहीं हर नागरिक को राष्ट्रसेवा का संकल्प लेने को कहा। राजे ने इस दौरान शपथ भी दिलाई और कहा कि एक-दूजे की मुस्कान के लिए जीने की बात कही।