VIDEO : ओलंपिक टार्च के साथ फोटो खींचने के साथ ही जगुआर को शूट करना पड़ा, जानिए क्यों...

नई दिल्ली (22 जून) :  ओलंपिक्स टॉर्च के रास्ते के लिए ब्राजील के अमेजन में निकाले गए एक जगुआर को गोली मार कर मौत की नींद सुलाना पड़ा। ब्राजील सेना के मुताबिक ये जगुआर अपने हैंडलर्स की पकड़ से भाग निकला था और एक वेटेनरी कर्मी की जान के लिए ख़तरा बन गया था।

सोमवार को मनौस शहर में इस जगुआर की ओलंपिक टॉर्च के साथ फोटो खींची गई थी। इसके थोड़ी देर बाद ही इसे गोली मार कर मारना पड़ा। पहले इसे बेहोशी का इंजेक्शन दाग कर अचेत करने की कोशिश की गई थी जो कामयाब नहीं रही थी।

बताया गया है कि जगुआर उस वक्त भाग निकला जब उसे एक स्थान से दूसरे स्थान ले जाने की कोशिश की जा रही थी। ब्राजील सेना के कर्नल लुईज़ गुस्तावो एवलिन के मुताबिक जगुआर पर बेहोशी के चार इंजेक्शन दागे गए थे। लेकिन इसके बावजूद उसकी फुर्ती में कोई कमी नहीं आई थी। जगुआर से एक वेटेनरी कर्मी की जान को खतरा हो गया था, इस वजह से सैनिकों को उस पर गोली चलाने के लिए मजबूर होना पड़ा।   

कर्नल एवलिन ने कहा कि हैंडलर की जान बचाने के लिए जगुआर का बलिदान करना पड़ा।

इस 17 वर्षीय मादा जगुआर का नाम जुमा था। अमेजन में जिस चिड़ियाघर में इसकी परवरिश हुई उसकी देखभाल का ज़िम्मा सेना पर ही है।

ओलंपिक्स की टार्च को रियो डि जेनेरियो ले जाया जा रहा था जहां 5 अगस्त से ओलंपिक्स खेल शुरू होने है। रास्ते में ही अमेजन का इलाका आता है। कर्नल एवलिन ने कहा कि ये दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि टॉर्च के पास होने वाले दिन ही जगुआर को मारना पड़ा।

देखें वीडियो-

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=6dtX6rx6rjI[/embed]