Blog single photo

कनाडा चुनाव: भारतीय मूल के जगमीत सिंह बने किंगमेकर

कनाडा चुनाव में प्रधानमंत्री जस्टिन टूडो की फिर से वापसी हुई है। हालांकि उन्हें पुर्ण बहुमत नहीं मिला है। जस्टिन टूडो की कुर्सी बचाने और बहुमत दिलाने में महत्वपूर्ण भुमिका निभाई है भारतीय मूल के जगमीत सिंह ने।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (23 अक्टूबर): कनाडा चुनाव में प्रधानमंत्री जस्टिन टूडो की फिर से वापसी हुई है। हालांकि उन्हें पुर्ण बहुमत नहीं मिला है। जस्टिन टूडो की कुर्सी बचाने और बहुमत दिलाने में महत्वपूर्ण भुमिका निभाई है भारतीय मूल के जगमीत सिंह ने। कनाडा में सिख समुदाय की बड़ी आबादी बसती है और एक तरह से उनके नेता माने जा रहे जगमीत की सरकार गठन में बड़ी भूमिका हो सकती है। ट्रूडो की लिबरल पार्टी को 338 सदस्यीय सदन में महज 157 सीटें ही मिल सकी हैं, जबकि सरकार गठन का जादुई आंकड़ा 170 का है।

अब ट्रूडो को को जगमीत सिंह की पार्टी न्यूडेमोक्रेटिक के समर्थन की जरुरत है। जगमीत की पार्टी को 24 सीटें मिली है। वो किंगमेकर की भुमिका में है। हालांकि इस बार उनकी पार्टी को भी बीते चुनाव के मुकाबले 20 सीटों का नुकसान उठाना पड़ा है। पिछले चुनाव में न्यूडेमोक्रेटिक पार्टी के 44 सांसद चुने गए थे। 2017 में न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी के अध्यक्ष चुने गए जगमीत सिंह पेशे से क्रिमिनल डिफेंस लॉयर हैं। जस्टिन ट्रूडो और कंजरवेटिव लीडर एंड्रयू के खिलाफ राय रखने वाले लोगों ने उन्हें समर्थन किया था। भारतीय मूल के प्रवासी परिवार में ओंटारियो में जन्मे 40 वर्षीय जगमीत सिंह ने हाल ही में फैशन डिजाइनर गुरकिरण कौर से शादी की थी।

जगमीत सिंह पंजाबी के साथ ही इंग्लिश और फ्रेंच भी फर्राटे से बोलते हैं। शायद यही वजह है कि कनाडा में उन्होंने भारतीय मूल के सिख समुदाय के अलावा अन्य वर्गों का भी समर्थन हासिल किया। यहां तक कि चुनाव प्रचार के दौरान उनकी नारंगी, पीली, गुलाबी, पर्पल और बेबी ब्लू कलर की पगड़ियों ने खासी चर्चा बटोरी।

जस्टिन ट्रूडो की पार्टी के बहुमत से दूर रहने पर जगमीत ने कहा, 'मुझे लगता है कि ट्रूडो जनमत का सम्मान करेंगे। फिलहाल सरकार अल्पमत में है और मुझे लगता है कि हमें साथ मिलकर काम करना होगा।' उनके इस बयान से स्पष्ट था कि वह ट्रूडो के नेतृत्व वाली अल्पमत सरकार को समर्थन दे सकते हैं।

Tags :

NEXT STORY
Top