अनुपम खेर की फिल्म पर जादवपुर यूनिवर्सिटी में बवाल, टूटा डायरेक्टर का कंधा

कोलकाता (7 मई): कोलकाता के जादवपुर यूनिवर्सिटी में शुक्रवार की रात एक बार फिर हंगामा हुआ। इस बार मुद्दा बनी डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘बुद्धा इन ट्रैफिक जाम’। थिंक इंडिया ग्रुप ने पहले ऑडिटोरियम के लिए परमीशन मांगी थी लेकिन एडमिनिस्ट्रेशन ने उनकी मांग ठुकरा दी थी। लेकिन फिर भी इस फिल्म की स्क्रीनिंग रखी गई, जिसमें छात्र आपस में भिड़ गए। बता दें कि इस फिल्म की स्क्रीनिंग को लेकर जेएनयू में भी बहस हुई थी। इस फिल्म में अनुपम खेर ने भी अभिनय किया है। 

जादवपुर यूनिवर्सिटी में इस फिल्म को दिखाए जाने को लेकर लेफ्ट और राइट विंग के छात्र आपस में भिड़ गए। लेफ्ट के छात्र अनुपम खेर स्टारर इस मूवी की स्क्रीनिंग का विरोध कर रहे थे। वहीं यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इसकी स्क्रीनिंग को 'मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट का उलंघन' बताते हुए इजाजत को देने से मना कर दिया था। लेकिन शुक्रवार को जब मूवी दिखाई जाने लगी तो हिंसा हुई। इस हिंसा में डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री का कंधा टूट गया।

इसके बाद उन्होंने ट्वीट किया। उनके ट्वीट के बाद यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर सुरंजन दास रात 10 बजे कैंपस पहुंचे। इससे पहले एफएएस और डीएसएफ के लोगों ने चार छात्रों को बंधक भी बना लिया था। जिन्हें वीसी के कहने के बाद छोड़ा।

हिंसा को लेकर एफएएस का आरोप है कि हिंसा एबीवीपी से जुड़े थिंक इंडिया ग्रुप की वजह से हुई। उनका ये भी आरोप है कि घटना में कुछ बाहरी लोग शामिल थे जिन्होंने गर्ल्स के साथ छेड़खानी की। वहीं एबीवीपी का आरोप है कि लेफ्ट स्टूडेंट्स यूनियन के लोगों ने उनपर हमला कर दिया। इस हमले में उनके दो छात्र घायल हो गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।