'नेपाली राजदूत को वापस बुलाने की चर्चा महज अफवाह'

नई दिल्ली (9 मई): नेपाल सरकार के कथित वापसी बुलावे के बावजूद नपाली राजदूत दीप कुमार उपाध्याय दिल्ली में अपने पद पर बने हुए हैं और अपने सरकारी कामकाज को निपटा रहे हैं। मीडिया में तीन दिन पहले ऐसी खबरें आयीं थीं कि नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने दीप कुमार उपाध्याय पर कथित तौर पर आरोप लगाया कि वो भारत सरकार के साथ मिल उनकी सरकार को कमजोर कर रहे हैं, लिहाजा उन्हें भारत से वापस बुलाया जा रहा है।

इस बारे में भारत स्थित नेपाल दूतावास ने कहा है कि राजदूत को वापस बुलाने के संबंध में काठमाण्डु से अभी तक कोई भी संदेश नहीं मिला है। जो भी खबरें हैं वो सब अखबारों या टीवी चैनलों के माध्यम से ही मिली है्ं। इसलिए वो (दीप कुमार उपाध्याय) अभी भारत में नेपाल के दूतावास का काम विधिवत देख रहे हैं। ऐसा माना जा रहा है कि भारतीय राजदूत के साथ दीप कुमार उपाध्याय का नेपाल के तराई का दौरा करना नेपाली सरकार को अच्छा नहीं लगा था। हालांकि दीप कुमार उपाध्याय ने अपने ऊपर लग रहे तमाम कथित आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि यह सरासर गलत है कि मैं अपने ही देश के खिलाफ षडयंत्र कर रहा हूं।