30 सितंबर को रात 12 बजे तक खुलेंगे आईटी ऑफिस, बेहिसाबी संपत्ति वालों के लिए आखिरी मौका

नई दिल्ली (15 सितंबर): इनकम डिक्लेरेशन स्कीम 2016 के तहत अपनी घरेलू बेहिसाबी संपत्ति की घोषणा करने की अंतिम तारीख 30 सितंबर है। इस दिन आयकर विभाग को केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने देशभर में अपने कार्यालय 30 सितंबर को आधी रात तक खोलने का निर्देश दिया है।

30 सितंबर के बाद आय घोषणा योजना (आईडीएस) बंद हो रही है। उस दिन मध्यरात्रि तक इस तरह की घोषणाएं जमा की जा सकेंगी। सीबीडीटी ने कहा, 'कामकाज के घंटों के बाद ही घोषणाएं स्वीकार करने के लिए प्रधान मुख्य आयुक्तों को निर्देश दिया गया है कि सभी अधिकार क्षेत्रों में आने वाले काउंटर 30 सितंबर, 2016 को मध्यरात्रि तक खुले रहें।'

सरकार ने आज एक बार फिर स्पष्ट किया कि आयकर विभाग को जो भी सूचनाएं और घोषणाएं आईडीएस के तहत मिलेंगी उन्हें गोपनीय रखा जाएगा और किसी के साथ साझा नहीं किया जाएगा। सरकार ने भी आईडीएस के तहत कर और जुर्माने के भुगतान की समयसीमा को बढ़ाया है। बेहिसाबी संपत्ति की घोषणा करने वालों को इसका भुगतान तीन किस्तों में अगले साल 30 सितंबर तक करना है।

आईडीएस 2016 के तहत 25 प्रतिशत की पहली किस्त का भुगतान नवंबर, 2016 तक किया जाना है। इसके बाद 31 मार्च, 2017 तक दूसरी 25 प्रतिशत की किस्त अदा की जानी है। शेष राशि का भुगतान 30 सितंबर, 2017 तक किया जाना है। पहले कुल मिलाकर कर, अधिभार और जुर्माने का भुगतान 30 नवंबर तक किया जाना था। सरकार ने इस योजना की घोषणा घरेलू अर्थव्यवस्था से कालाधन निकालने के लिए की थी। इससे पहले सरकार ने विदेशों में भारतीयों के जमा काले धन के बारे में इसी तरह की योजना चलाई थी।