इनकम टैक्स की रडार पर 200 से ज्यादा शैल कंपनियां, नोटबंदी के दौरान अवैध ट्रांजेक्शन का आरोप

नई दिल्ली (10 नवंबर): नोटबंदी के बाद देशभर में भारी तादाद में कालेधन के कुबेरों ने अपनी काली कमाई को अलग-अलग तरीके से सफेद किया। अब ऐसे तमाम लोग कंपनियां इनकम टैक्स और ईडी की रडार पर है। इसी कड़ी में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को देशभर के 200 शैल कंपनियों का पता चला है जो नोटबंदी के बाद अवैध तरीके से लोगों के काली कमाई को सफेद करने का काम किया। इनकम टैक्स की रडार पर दिल्ली, कर्नाटक, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र और पंजाब की 200 से ज्यादा ऐसी कंपनियां है।

दरअसल शैल कंपनी बनाने वाले लोग फर्जी पते पर बैंक अकाउंट खुलवाते हैं जिसके बाद इन अकाउंट्स में वे लोग अघोषित आय की बड़ी राशि कैश में जमा कराते हैं। इस राशि को वे कई खातों में ट्रांसफर करते हैं और फिर वहां से बेनिफिशरीज के खाते में रकम आती है।

फिलहाल इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इन कंपनियों की जांच कर बड़ी कार्रवाई की तैयारी में जुटी है।