10 लाख से ज्यादा जमा करने वालों से सवाल-जवाब शुरू

नई दिल्ली(24 जनवरी):आयकर विभाग संदिग्ध बैक डिपॉजिट को लेकर सवाल पूछने शुरू कर दिए हैं। विभाग ने अधिकतर मामलों में इनकम के सोर्स और अकाउंट होल्डर की पहचान से जुड़े सबूत मांगे हैं।

- एक अंग्रेजी वेबसाइट ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि पहले राउंड में डिपार्टमेंट उन बैंक अकाउंट्स पर फोकस कर रहा है, जिनमें KYC रूल्स का पालन नहीं हुआ है या जिनमें कैश डिपॉजिट व्यक्ति की इनकम से मेल नहीं खाते।

- डिपार्टमेंट ई-प्लैटफॉर्म के जरिए भी सवाल पूछ रहा है। ऐसे लोगों से स्पष्टीकरण देने के लिए कहा जा रहा है जिन्होंने 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद बड़ी रकम अकाउंट्स में जमा की है।

- पहले राउंड में डिपार्टमेंट केवल उन बैंक अकाउंट्स के संबंध में जानकारी ले रहा है, जो संदिग्ध लग रहे हैं। ऐसे अकाउंट्स को लेकर प्रश्न पूछे जा रहे हैं जिनमें नोटबंदी के बाद कम से कम 10 लाख रुपये जमा किए गए हैं।